लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   Education ›   vocational training for girls in Kasturba Balika Vidyalayas of uttar pradesh

उत्तर प्रदेश: कस्तूरबा बालिका विद्यालय की छात्राओं को मिलेगा व्यावसायिक प्रशिक्षण, निर्देश जारी

एजुकेशन डेस्क, नई दिल्ली Published by: सौरभ पांडेय Updated Sun, 04 Dec 2022 05:49 PM IST
सार

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की सरकार लड़कियों को स्कूलों में व्यावसायिक प्रशिक्षण देकर आत्मनिर्भर बनने में मदद करेगी। कौशल विकास मिशन के प्रशिक्षण भागीदार संबंधित ट्रेडों में प्रशिक्षण दिया जाएगा।

कस्तूरबा गांधी आवास बालिका विद्यालय
कस्तूरबा गांधी आवास बालिका विद्यालय - फोटो : Amar Ujala Meerut

विस्तार

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की सरकार लड़कियों को स्कूलों में व्यावसायिक प्रशिक्षण देकर आत्मनिर्भर बनने में मदद करेगी। कौशल विकास मिशन के प्रशिक्षण भागीदार संबंधित ट्रेडों में प्रशिक्षण दिया जाएगा। यह पहल राज्य के उन्नत कस्तूरबा बालिका विद्यालयों में शुरू होगी। शनिवार को स्कूल शिक्षा महानिदेशक विजय किरण आनंद ने आदेश जारी कर कस्तूरबा बालिका विद्यालयों को इस कार्यक्रम में सभी छात्राओं की भागीदारी सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है।


आदेश में यह भी कहा गया है कि सामुदायिक स्तर पर व्यावसायिक प्रशिक्षण के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए बैठकें आयोजित की जाएंगी। यह कार्य जिला विद्यालय निरीक्षक, प्राचार्य एवं कौशल विकास मिशन के जिला समन्वयक, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी एवं जिला बालिका शिक्षा समन्वयक के सहयोग से किया जायेगा। कौशल विकास मिशन के सहायक निदेशक राजीव यादव के अनुसार, "कुल 54 कस्तूरबा बालिका विद्यालयों को अधिसूचित किया गया है। इन स्कूलों में जल्द ही प्रशिक्षण शुरू होगा। पंजीकरण प्रक्रिया शुरू हो गई है। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम के तहत लड़कियों को पढ़ाने की जिम्मेदारी हमसे जुड़े प्रशिक्षण भागीदारों को दी गई है।


प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि स्कूली शिक्षा महानिदेशक विजय किरण आनंद ने एक आदेश जारी कर इन सरकारी बालिका विद्यालयों को अपने 100 प्रतिशत छात्रों को इस कार्यक्रम से जोड़ने का निर्देश दिया है। आदेश में आगे कहा गया है कि सामुदायिक स्तर पर व्यावसायिक प्रशिक्षण के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए माता-पिता के साथ बैठक आयोजित की जाएगी, जिसमें जिला विद्यालय निरीक्षकों, प्रधानाध्यापकों, डीपीएमयू और कौशल विकास मिशन के जिला समन्वयक, जिला बुनियादी शिक्षा अधिकारियों और जिला समन्वयक बालिका शिक्षा भी मौजूद रहेंगे।

विज्ञप्ति के अनुसार, 'कौशल विकास मिशन' वर्तमान में लड़कियों को व्यावसायिक शिक्षा तक पहुंच प्रदान करने के लिए राज्य भर में कई अन्य कार्यक्रम चला रहा है। महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सुरक्षा किट वितरण कार्यक्रम भी चल रहा है। इस पहल के तहत 10 दिनों के प्रशिक्षण के बाद विशेषज्ञों द्वारा लड़कियों को विशेष किट प्रदान की जाएगी। इसके अतिरिक्त, पायलट प्रोजेक्ट के हिस्से के रूप में, कुछ महिलाओं के आवासीय घरों में व्यावसायिक प्रशिक्षण पहले ही शुरू हो चुका है

 
विज्ञापन
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें शिक्षा समाचार आदि से संबंधित ब्रेकिंग अपडेट।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

क्षमा करें यह सर्विस उपलब्ध नहीं है कृपया किसी और माध्यम से लॉगिन करने की कोशिश करें

;

Followed

;