लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Delhi ›   Toolkit Case news tool kit case disha ravi bail hearing today in delhi court

Toolkit Case: दिशा रवि की जमानत पर आज आएगा फैसला, भेजा गया था एक दिन की रिमांड पर

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: Vikas Kumar Updated Tue, 23 Feb 2021 10:04 AM IST
जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि
जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि - फोटो : Social Media
विज्ञापन
ख़बर सुनें

दिल्ली की एक अदालत ने सोमवार को टूलकिट मामले में आरोपी जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि को फिर एक दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया। हालांकि, पुलिस ने पांच दिन की पुलिस रिमांड मांगी थी लेकिन अदालत ने उसके आग्रह को नामंजूर कर दिया। वहीं, दिशा की जमानत पर मंगलवार को फैसला आना है।



तीन दिन की न्यायिक हिरासत खत्म होने पर दिशा रवि को पटियाला हाउस स्थित मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट पंकज शर्मा के समक्ष पेश किया गया। जांच अधिकारी ने अदालत से दिशा का पांच दिन की पुलिस रिमांड स्वीकार करने का आग्रह करते हुए कहा कि इस मामले में सह-आरोपी निकिता जैकब व शांतनु मुलुक सोमवार को ही जांच में शामिल हुए हैं। 


उन्होंने कहा, दिशा पहले भी स्वयं को निर्दोष बताते हुए सह-आरोपियों पर आरोप लगाती रही है। ऐसे में दोनों अन्य आरोपियों से पूछताछ की जांच रिपोर्ट व अन्य दस्तावेज के संबंध में दिशा से पूछताछ करनी है। इसके अलावा जरूरत हुई तो सभी आरोपियों को आमने-सामने बिठाकर भी पूछताछ की जाएगी। ऐसे में जांच हित में पांच दिन का रिमांड स्वीकार किया जाए। 

वहीं, दिशा की ओर से पेश अधिवक्ता ने रिमांड का विरोध करते हुए कहा कि जांच एजेंसी पहले ही उनके मुवक्किल से पांच दिन का रिमांड लेकर पूछताछ कर चुकी है। बचाव पक्ष के वकील ने कहा कि जब निकिता और शांतनु हिरासत में नहीं हैं तो मेरे मुवक्किल का रिमांड क्यों मांगा जा रहा है। उससे न्यायिक हिरासत में भी उन दोनों के बयानों के संदर्भ में पूछताछ हो सकती है। अभियोजन ने इसका विरोध करते हुए कहा पुलिस हिरासत को सजा के रूप में क्यों देखा जा रहा है। यह किसी भी जांच एजेंसी का अधिकार है। 

उन्होंने कहा, अदालत को उनकी मुवक्किल की जमानत पर मंगलवार को फैसला देना है और पुलिस जानबूझ कर रिमांड लेकर फैसले को टलवाना चाहती है। ऐसे में रिमांड के आवेदन को खारिज किया जाए। अदालत ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद दिशा को एक दिन के रिमांड पर भेजते हुए कहा कि सह-आरोपियों से पूछताछ के आधार पर दिशा से एक दिन में ही पूछताछ संभव है।

किसान आंदोलन को फैलाने में निभाई थी अहम भूमिका
दिशा को बंगलूरू से 13 फरवरी को गिरफ्तार किया गया था। जिसके बाद उन्हें दिल्ली लाया गया था और पुलिस ने पांच दिन का रिमांड लिया था। दिशा पर आरोप है कि उन्होंने किसान आंदोलन को वैश्विक रूप में फैलाने के लिए बने एक गूगल टूलकिट में कई बार एडिटिंग की और फिर जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग को भेजा। पुलिस के अनुसार इस टूलकिट के माध्यम से किसान आंदोलन के समर्थन में ट्विटर स्टॉर्म लाए जाने की बात थी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00