ड्रा में एक्सयूवी निकलने का झांसा दे 1.16 लाख ठगे

Amarujala Local Bureauअमर उजाला लोकल ब्यूरो Updated Wed, 25 Nov 2020 07:33 PM IST
विज्ञापन
- फोटो : Amar Ujala

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
- साइबर ठगों ने राजनगर एक्सटेंशन में रहने वाले सेवानिवृत्त शिक्षक को बनाया शिकार
विज्ञापन
- पीडि़त की तहरीर पर केस दर्ज कर मामले की जांच-पड़ताल में जुटी सिहानी गेट पुलिस माई सिटी रिपोर्टर गाजियाबाद। लकी ड्रा में महिंद्रा एक्सयूवी कार निकलने का झांसा देकर साइबर ठगों ने राजनगर एक्सटेंशन निवासी सेवानिवृत्त अध्यापक सुरेश चंद से 1.16 लाख रुपये ठग लिए। ठगों ने कार के बदले 15 लाख रुपये नकद लेने की बात भी कही थी। ठगी का पता लगने पर पीडि़त ने सिहानी गेट थाने में शिकायत दी, लेकिन पुलिस ने उन्हें टरकाते हुए कोई कार्रवाई नहीं की। अधिकारियों से गुहार लगाने पर 20 दिन बाद पुलिस ने केस दर्ज किया।.................... राजनगर एक्सटेंशन की वीवीआईपी सोसायटी में रहने वाले सुरेश चंद का कहना है कि वर्ष 2017 में उनके प्रोफेसर बेटे का एक्सीडेंट हुआ था, जिसके बाद से वह कोमा में है। वह अकससर शॉपक्लूज के जरिये खरीदारी करते हैं। उनके पास इसी कंपनी के नाम से लकी ड्रा में महिंद्र एक्सयूवी निकलने का मेसेज प्राप्त हुआ। इसके बाद उनके पास किसी रणजीत सिंह नाम के व्यक्ति की कॉल आई। उसने भी लकी ड्रा में पहला इनाम निकलने की बात कही। साथ ही कहा कि वह कार के बदले 15 लाख रुपये ले सकते हैं। कॉलर ने उन्हें पूर्व में हुई खरीदारी की जानकारी भी दी, जिससे उन्हें विश्वास हो गया। आरोप है कि उन्होंने बेटे के इलाज को देखते हुए कैश लेने की बात कही। इसके बाद ठगों ने उनसे कई बार में 1.16 लाख रुपये खाते में डलवा लिए।
__________________________________________ खाते से 37 हजार निकलने पर बैंक मैनेजर व कर्मियों पर केस - अधिवक्ता की शिकायत पर पहली बार साइबर ठगी में बैंक कर्मचारी हुए नामजद माई सिटी रिपोर्टर गाजियाबाद। एटीएम कार्ड पास में होने के बावजूद खाते से 37 हजार रुपये निकल जाने पर पहली बार बैंक मैनेजर व कर्मचारियों के खिलाफ केस दर्ज हुआ है। सद्दीकनगर निवासी अधिवक्ता व जुवेनाइल कोर्ट के पूर्व मजिस्ट्रेट दिनेश शर्मा ने सिंडीकेट बैंक की डीपीएस मेरठ रोड शाखा के मैनेजर व कर्मचारियों को नामजद किया है। पुलिस का कहना है कि मामले की जांच पड़ताल कर आगामी कार्रवाई की जाएगी।................ दिनेश शर्मा का कहना है कि 23 से 26 अगस्त के बीच उनके खाते से 37 हजार रुपये निकल गए। उनके पास रकम निकासी का कोई मेसेज भी नहीं आया। एक जगह भुगतान करने के दौरान उन्हें खाते से रकम कटने का पता चला। दिनेश शर्मा का कहना है कि मोबाइल अलर्ट सेवा शुरू करने का फार्म भरने के बाद भी बैंक ने उनकी सेवा शुरू नहीं की। खाते से पैसे निकलने पर उन्होंने बैंक में शिकायत की तो कर्मचारियों ने कुछ दिनों बाद पैसे खाते में आने का आश्वासन दिया। बाद में बैंककर्मी पुलिस में शिकायत करने को कहने लगे। इसके बाद उन्होंने बैंक मैनेजर व कर्मचारियों के खिलाफ शिकायत दी। उनका कहना है कि ग्राहक की जानकारी के बिना पैसे कटने पर बैंक की जिम्मेदारी होती है। सिहानी गेट एसएचओ कृष्ण गोपाल शर्मा का कहना है कि केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X