बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

इंजीनियरिंग कॉलेजों की लापरवाही, रुक सकती है छात्रवृत्ति

Amarujala Local Bureau अमर उजाला लोकल ब्यूरो
Updated Thu, 01 Oct 2020 06:02 PM IST
विज्ञापन
- फोटो : Amar Ujala

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
सबहेडः सात इंजीनियरिंग कॉलेजों ने एकेटीयू को नहीं दिया संबद्धता प्रमाण पत्र सहित विस्तृत ब्यौरा
विज्ञापन
- शुल्क प्रतिपूर्ति के लिए इंजीनियरिंग कॉलेजों से मांगा था ब्यौरा, सूचना के अभाव में डाटा नहीं हो पा रहा डिजिटल लॉक माई सिटी रिपोर्टर गाजियाबाद। एकेटीयू के कई इंजीनियरिंग कॉलेजों की लापरवाही विद्यार्थियों पर भारी पड़ सकती है। शैक्षिक सत्र 2020-21 में विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति और शुल्क प्रतिपूर्ति के लिए कॉलेजों से कोर्सेज की संबद्धता सहित अन्य ब्यौरा मांगा गया था। लेकिन महानगर के सात इंजीनियरिंग कॉलेजों ने अब तक विश्वविद्यालय को सूचना उपलब्ध नहीं कराई है। ऐसे में विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति रुकने का संकट खड़ा हो सकता है। विश्वविद्यालय के उपकुलपति डॉ. आरके सिंह ने साफ किया है कि कॉलेजों की ओर से अधूरे अभिलेख उपलब्ध कराने से संस्थाओं का समाज कल्याण के पोर्टल पर डाटा डिजिटल लॉक नहीं हो पा रहा है। तय समय तक ब्यौरा उपलब्ध नहीं कराया जाता है तो इसकी पूरी जिम्मेदारी संस्थानों की होगी।विश्वविद्यालय ने कॉलेजों से एमबीए, एमसीए, बीटेक, बीफार्मा, बीआर्क व अन्य कोर्सेज के विभिन्न सत्र की संबद्धता का पत्र मांगा है।
---------

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us