लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Chamoli News ›   Uttarakhand Weather News Today: Cloudburst in Chamoli Binsar Mountain, Debris covered Market and village

उत्तराखंड: चमोली की बिनसर पहाड़ी में बादल फटने से मची तबाही, मलबे में दबे कई घर, दुकानें और वाहन

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, गोपेश्वर Published by: अलका त्यागी Updated Tue, 04 May 2021 09:58 PM IST
चमोली में बादल फटा
चमोली में बादल फटा - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन

उत्तराखंड के चमोली जिले में घाट बाजार के ठीक ऊपर बिनसर पहाड़ी के चिनाडोल नामक तोक में बादल फटने से भारी तबाही मची है। कई आवासीय मकान, दुकानें और वाहन मलबे में दब गए हैं। पहाड़ी से भूस्खलन होने पर लोग पहले ही अपने घरों को छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर चले गए थे। एक व्यक्ति के अपने घर में फंसे होने पर पुलिस और एसडीआरएफ की टीम ने करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद उसे सुरक्षित निकाला। 



मंगलवार शाम करीब साढ़े पांच बजे तेज बारिश के दौरान बिनसर पहाड़ी की तलहटी में तीन जगहों पर एक साथ बादल फटा, जिससे भारी मात्रा में मलबा लोगों के घरों से होते हुए मुख्य बाजार में पहुंचा।


उत्तराखंड में अतिवृष्टि: पहाड़ी इलाकों में बादलों ने बरपाया कहर, तस्वीरों में देखें तबाही का मंजर...  

मुख्य बाजार के समीप ही स्थानीय निवासी नंदा बल्लभ के नए भवन पर सीमेंट वर्क चल रहा था। मलबा आते ही मजदूर भाग गए, लेकिन नंदा बल्लभ मलबे में ही फंस गए, जिन्हें एसडीआरएफ और पुलिस की टीम ने आधे घंटे तक रेस्क्यू करने के बाद सुरक्षित निकाला।  

घटना के प्रत्यक्षदर्शी शंभू प्रसाद पांडे ने बताया कि तेज बारिश के दौरान बिनसर पहाड़ी पर तेज बारिश के दौरान एक जोरदार धमाके जैसी आवाज सुनाई दी, जिसके बाद लोगों में अफरा-तफरी मच गई। लोग अपने घरों को छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर चले गए। क्षण भर में ही लोगों के घर मलबे में दब गए।

बैंड बाजार पूरी तरह से मलबे से भरा

बैंड बाजार पूरी तरह से मलबे से भर गया है। यहां कई वाहन भी मलबे में दबे हैं। सहकारी बैंक शाखा से होते हुए मलबा बाजार में फैल गया। यहां भी कई वाहन और घर मलबे में दब गए हैं। 

स्थानीय निवासी मथुरा प्रसाद त्रिपाठी का नवनिर्मित भवन भी मलबे से क्षतिग्रस्त हो गया है। बलभद्र मैंदोली, भवानी दत्त गौड़, कुलानंद मैंदोली, रामेश्वर प्रसाद मैंदोली, दौलत सिंह नेगी, मुखर्ल्या सिंह राणा, सुंदरमणि जोशी, शबर सिंह रावत, खिलापी राम, बचन सिंह सहित कई मकानों में मलबा घुस गया है। लक्ष्मी मार्केट में भी कई मकान और दुकानें मलबे में दब गई हैं। घाट-बांजबगड़, घाट-भेंटी और घाट-उस्तोली सड़कों पर टनों मलबा भर जाने से बाधित हो गई हैं।

वहीं, भारी बारिश के चलते बरसाती गदेरे भी उफान पर बह रहे हैं, जिससे चुफलागाड़ नदी का जल स्तर बढ़ गया है। तहसीलदार राकेश देवली ने बताया कि बिनसर पहाड़ी की तलहटी में तीन जगहों पर बादल फटने की घटना हुई है। एसडीआरएफ, पुलिस टीम और तहसील की आपदा प्रबंधन की टीम रेस्क्यू में लगी हुई है। घटना में कोई मानव क्षति नहीं हुई है। दुकानों और वाहनों को नुकसान हुआ है।



सीएम ने घाट में प्रभावित परिवारों को मदद के निर्देश दिए
चमोली जिले के घाट में अतिवृष्टि से हुए नुकसान की जानकारी मिलते ही मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने जिलाधिकारी चमोली को फोन कर प्रभावितों तक तुरंत राहत पहुंचाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने घायलों के समुचित इलाज और बेघर हुए लोगों के भोजन व रहने की व्यवस्था सुनिश्चित करने को भी कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों को हुए नुकसान का आंकलन करते हुए प्रभावितों को अनुमन्य सहायता राशि अविलंब उपलब्ध कराई जाए।

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00