रिटायर्ड आईएफएस ने उठाया बच्चों को शिक्षित और रोगियों को स्वस्थ करने का बीड़ा, रह चुके हैं चार देशों के राजदूत

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, काशीपुर Updated Tue, 27 Oct 2020 12:07 AM IST
विज्ञापन
चंद्रमोहन भंडारी
चंद्रमोहन भंडारी - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

सार

  • गरीब बच्चों के लिए खोला जूनियर हाईस्कूल, ढाई सौ बच्चों को पढ़ा रहे निशुल्क
  • चार देशों के दूतावास में राजदूत की सेवा दे चुके हैं रानीखेत के भंडारी
  • पांच देशों में विभिन्न राजनयिक पदों पर भी रह चुके हैं 

विस्तार

आईएफएस अधिकारी की नौकरी से सेवानिवृत्त होने के बाद जहां अधिकारी पूरी तरह से अपने घर परिवार को समय देते हैं या किसी संगठन से जुड़कर कोई अन्य तरह का कार्य करते हैं, वहीं उत्तराखंड में रानीखेत के एक आईएफएस अधिकारी ने सेवानिवृत्त होने के बाद गरीब बच्चों को निशुल्क शिक्षा और रोगियों को स्वास्थ्य लाभ देने का बीड़ा उठाया है। वह आईएफएस रहने के दौरान आठ देशों के दूतावास में बतौर राजदूत अपनी सेवाएं दे चुके हैं। 
विज्ञापन

मूल रूप से रानीखेत केमवड़ा गांव के रहने वाले चंद्र मोहन भंडारी (72) जून 2009 में आईएफएस की सेवा से सेवानिवृत्त हुए थे। सेवा के दौरान वह  कंबोडिया, संयुक्त अरब अमीरात, लिथोआानिया और पोलैंड के दूतावास में राजदूत रहे। टोरंटो, ऑस्ट्रेलिया, थाईलैंड, नाइजीरिया और नार्वे के दूतावास में विभिन्न राजनयिक पदों पर रहे।
सेवाकाल के दौरान भंडारी ने विभिन्न देशों की संस्कृति को समझा लेकिन भारत के वेदों के समान ज्ञान उन्हें किसी देश की संस्कृति में नहीं मिला। इस दौरान उन्होंने योग में महारत हासिल की। साथ ही मर्म चिकित्सा, आयुर्वेद और पंचकर्म का भी ज्ञान लिया।

सेवानिवृत्त होने के बाद उन्होंने 2016 में काशीपुर गढ़ीगंज में स्वास्थ्य विभाग से सेवानिवृत्त अपने बड़े भाई हरीश चंद्र भंडारी के साथ मिलकर देवांबर वेद विज्ञान एवं आरोग्य धाम के नाम से एक आश्रम की स्थापना की।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

250 बच्चे निशुल्क शिक्षा ग्रहण कर रहे

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X