लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun News ›   uttarakhand news : after corona curfew chardham yatra starts soon

उत्तराखंड : चरणबद्ध तरीके से चारधाम यात्रा को खोलने की तैयारी, देवस्थानम बोर्ड ने भेजा प्रस्ताव

न्यूज़ डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Published by: Nirmala Suyal Nirmala Suyal Updated Sat, 12 Jun 2021 10:05 AM IST
सार

मई व जून महीने में चारधाम यात्रा में सबसे ज्यादा श्रद्धालु दर्शन के लिए आते थे। लेकिन वर्तमान में बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम में बिना श्रद्धालुओं के सन्नाटा पसरा है।

चारधाम यात्रा
चारधाम यात्रा - फोटो : अमर उजाला फाइल फोटो
विज्ञापन

विस्तार

कोरोना की दूसरी लहर की रफ्तार धीमी पड़ने से देवस्थानम बोर्ड ने चारधाम यात्रा को चरणबद्ध तरीके से खोलने की तैयारी कर ली है। बोर्ड की ओर से शासन को यात्रा को सीमित संख्या में शुरू करने का प्रस्ताव भेजा गया है। इस पर स्वास्थ्य व आपदा प्रबंधन की अनुमति के बाद सरकार 15 जून के बाद फैसला ले सकती है। 



उत्तराखंड : प्रदेश में ब्लैक फंगस के 13 नए मामले, दो की मौत, मरीजों की कुल संख्या 369 हुई


कोरोना महामारी के कारण लगातार दूसरे साल भी चारधाम यात्रा बंद पड़ी है। मई व जून महीने में चारधाम यात्रा में सबसे ज्यादा श्रद्धालु दर्शन के लिए आते थे। लेकिन वर्तमान में बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम में बिना श्रद्धालुओं के सन्नाटा पसरा है। सिर्फ मंदिर में पुजारी, तीर्थ पुरोहित ही पूजा पाठ की परंपरा को निभा रहे हैं। पर्यटन उद्योग ही प्रदेश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। जिसमें चारधाम यात्रा प्रमुख है।
 

उत्तराखंड में कोरोना: 287 नए संक्रमित मिले, 21 की मौत, 1614 मरीज हुए ठीक 


कोरोना की दूसरी लहर काबू में आने से बीते वर्ष की तर्ज पर देवस्थानम बोर्ड ने चारधाम यात्रा को चरणबद्ध तरीके खोलने की तैयारी की है। जिसमें सबसे पहले चारधामों के समीपवर्ती गांवों के लोगों को ही दर्शन की अनुमति दी जाएगी। इसके बाद जिला, राज्य और बाहरी राज्यों के लोगों के लिए यात्रा शुरू की जा सकती है।

यात्रा को सीमित संख्या में संचालित करने का प्रस्ताव

चारधामों में एक दिन में आने वाले श्रद्धालुओं की क्षमता के आधार पर यात्रा को सीमित संख्या में संचालित करने का प्रस्ताव देवस्थानम बोर्ड ने दिया है। साथ ही श्रद्धालुओं के लिए ई-पास के माध्यम से यात्रा की अनुमति दी जाएगी।

बीते वर्ष की तर्ज पर चारधाम यात्रा को संचालित करने की तैयारी की गई है। बोर्ड की ओर से प्रस्ताव भेजा गया है। मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में बैठक होनी है। स्वास्थ्य और आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से जिस तरह की अनुमति मिलेगी। उसी आधार पर यात्रा का संचालन किया जाएगा।
- रविनाथ रमन, सीईओ, चारधाम देवस्थानम बोर्ड

पिछले साल एक जुलाई से शुरू हुई थी यात्रा
कोरोना की पहली लहर में लॉकडाउन के चलते चारधाम यात्रा एक जुलागई से शुरू हुई थी। सरकार ने सबसे पहले स्थानीय लोगों को दर्शन की अनुमति दी। इसके बाद राज्यों के लोगों के लिए यात्रा खोली गई। 25 जुलाई से प्रदेश के बाहर के लोगों को आरटीपीसीआर की निगेटिव जांच रिपोर्ट और पंजीकरण के साथ यात्रा में आने की अनुमति दी गई। बीते वर्ष 3.30 लाख श्रद्धालुओं ने कोरोना संक्रमण के बीच दर्शन किए।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00