बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

उत्तराखंड में कोरोना: 787 नए संक्रमित मिले, तीन की मौत, एक्टिव केस की संख्या पांच हजार पार 

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Published by: अलका त्यागी Updated Thu, 08 Apr 2021 10:18 PM IST
विज्ञापन
Today Corona Active Cases in uttarakhand 8 April: 787 new infected found in 24 hours, three dead
- फोटो : अमर उजाला फाइल फोटो

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण फिर से बढ़ रहा हैं। गुरुवार को प्रदेश में 24 घंटे के भीतर 787 नए संक्रमित मिले हैं। जबकि तीन कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हुई है। वहीं, एक्टिव केस की संख्या पांच हजार पार पहुंच गई है।
विज्ञापन


स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, गुरुवार को 29287 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। प्रदेश में अब तक 105498 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से 97000 मरीज ठीक हो चुके हैं। बता दें कि बुधवार को प्रदेश में 24 घंटे के भीतर इस साल के सबसे ज्यादा 1109 नए संक्रमित मामले सामने आए थे। जबकि पांच कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हुई थी।


यह भी पढ़ें... उत्तराखंड में कोरोना: देहरादून में फिर खतरा बन रहा कोरोना, रोजाना बढ़ रहा ग्राफ

वहीं, प्रदेश में अब तक 1744 कोरोना संक्रमित मरीजों की उपचार के दौरान मौत हो चुकी है। देहरादून, हरिद्वार, नैनीताल और ऊधमसिंह नगर में सबसे ज्यादा मामले मिल रहे हैं। एक्टिव केस की संख्या 5042 पहुंच गई है।

यह भी पढ़ें... उत्तराखंड में कोरोना: एफआरआई में 14 ट्रेनी अफसर मिले संक्रमित, आम लोगों का प्रवेश हुआ बंद

दून अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक भी हुए संक्रमित
राजकीय दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक एवं वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. केसी पंत भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इससे अस्पताल प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। अस्पताल प्रशासन ने उनके संपर्क में आए सभी चिकित्सा अधिकारियों की जांच कराने का फैसला लिया है। डॉ. पंत कोरोना वैक्सीन की दो डोज लगवा चुके हैं। डॉक्टर केसी पंत ने पत्नी के कोरोना संक्रमित पाए जाने पर संदेह के आधार पर अपना कोरोना टेस्ट कराया, जिसमें वह संक्रमित पाए गए।

डॉक्टर केसी पंत का कहना है कि उन्हें कोरोना के लक्षण नहीं थे, लेकिन बिना लक्षणों वाला कोरोना होने का अंदेशा होने पर उन्होंने जांच कराई। अगले 14 से 17 दिन तक वह अपने घर में खुद आइसोलेशन में रहेंगे। इस दौरान वह अस्पताल का कामकाज भी निपटाएंगे। डॉक्टर पंत ने बताया कि कोई भी व्यक्ति अगर उनसे ऑनलाइन चिकित्सा परामर्श लेना चाहेगा तो ले सकता है। 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

किस जिले में आए कितने मरीज

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X