छोटा हो रहा है आपके छोटू का मुंह!

रजा शास्त्री/ अमर उजाला, देहरादून Updated Thu, 30 Jan 2014 09:19 AM IST
fast and soft food dangerous for kids
फास्ट फूड और मुलायम खाना खाने से आपके छोटू (संतान) का मुंह छोटा होता जा रहा है। ऐसे में जब आपका छोटू जवान होगा तो उसके मुंह में बत्तीसी नहीं होगी। यदि 28 के बाद दांत निकले भी तो काफी कष्टकारक होंगे।

बच्चों को मुलायम तथा फास्ट फूड से दूर ही रखें
जानकारों का मानना है कि यदि अपनी संतान के मुंह में बत्तीसी देखना चाहते हैं तो उसे चबाने वाली चीजें खिलाएं और मुलायम तथा फास्ट फूड से दूर ही रखें।

पढ़ें, बेरहम बाप ने किसी और को सौंप दिया जिगर का टुकड़ा

इंडियन डेंटल एसोसिएशन (आईडीए) के नेशनल ओरल हेल्थ प्रोग्राम के एक सर्वेक्षण में यह तथ्य उजागर हुआ है कि खानपान की गड़बड़ी से बच्चों का जबड़ा छोटा होता जा रहा है। जबड़े के संकरे होने से अक्कल दाढ़ के लिए मुंह में जगह नहीं बच रही है। मुंह में बत्तीस की जगह अट्ठाइस दांत ही आ पाएंगे।

पढ़ें, कहां, कब होंगे पंचायत चुनाव जानने के लिए पढ़ें...

आईडीए ने देश भर में 10 हजार कैंप लगवाए थे। ओरल हेल्थ प्रोग्राम के चेयरमैन डा. केपी शर्मा ने बताया कि कैंपों में स्कूली बच्चों के दांतों का परीक्षण किया गया। पांच लाख स्कूली बच्चे कैंप में आए थे।

पढ़ें, पीएम की 'शरण' में उत्तराखंड के सीएम

इनकी जांच की गई तो 98 फीसदी बच्चों के जबड़ों में संकरेपन के लक्षण मिले। कैंप वर्ष 2013 में लगे थे। इनमें 5 से 18 वर्ष की उम्र के छात्र-छात्राएं शामिल हुए। जबड़ा सिकुड़ने की मुख्य वजह मुलायम खाना पाया गया। ज्यादातर बच्चे फास्ट फूड और दूसरी सॉफ्ट चीजें खाते थे।

जबड़े में सिकुड़न आने लगती है
इसकी वजह से जबड़े का व्यायाम नहीं हो पाता है और इसमें सिकुड़न आने लगती है। जबड़ा सिकुड़ने से चार दांतों के लिए जगह कम पड़ जाएगी। इसका असर 18 साल की उम्र के बाद निकलने वाली अक्कल दाढ़ पर पड़ रहा है।

पढ़ें, अब उत्तराखंड को टक्कर देंगे उत्तराखंडी

शर्मा ने बताया कि जबड़ा छोटा होने से एक तो अक्कल दाढ़ निकल नहीं पाती। निकली भी तो टेढ़ी-मेढ़ी निकलती है, जिसकी वजह है मुंह में घाव हो जाता है, जिससे अल्सर होने का खतरा रहता है। बाद में यह कैंसर में परिवर्तित हो सकता है।

सॉफ्ट डाइट लेने से मुंह का व्यायाम नहीं हो पाता। इससे मुंह का ब्लड सरकुलेशन प्रभावित होता है। इससे जबड़ों की ग्रोथ प्रभावित होती है। 32 दांत के लिए जगह नहीं बन पाती।
- डॉ. चारू बहुगुणा, दंत रोग विशेषज्ञ

कुदरत ने जबड़ों को सख्त चीजें चबाने के लिए बनाया है। मुलायम चीजें खाने से जबड़ों पर जोर नहीं पड़ता और इनका व्यायाम नहीं हो पाता है। जबड़ा पूरा फैल नहीं पाता, जिससे विकास रुक जाता है।
- डॉ. जेडीएस राणा, अपर निदेशक दंत चिकित्सा

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

आत्महत्या को फैशन मानते हैं इस राज्य के सीएम साहब

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ट्रांस्पोर्टर आत्महत्या मामले को लेकर एक विवादास्पद बयान दिया।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls