इंटरनेट पर ना चलाएं कोरोना का खौफ देश विदेश में शोध करने गए विभिन्न संस्थानों के वैज्ञानिक देहरादून लौटे , खुद को किया कोरेन्टीन

Amarujala Local Bureauअमर उजाला लोकल ब्यूरो Updated Fri, 27 Mar 2020 08:17 PM IST
विज्ञापन
- फोटो : AMAR UJALA

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
माय सिटी रिपोर्टर देहरादून देश दुनिया में कोरोना वायरस का खतरा जहां सिर चढ़कर बोल रहा है , वही देश के साथ ही विदेशों में हो रहे तमाम वैज्ञानिक शोध पूरी तरह ठप हो गए हैं देहरादून स्थित भारतीय वन्यजीव संस्थान, वाडिया इंस्टीट्यूट आफ हिमालयन जियोलॉजी , भारतीय वन अनुसंधान संस्थान, जूलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया , बोटैनिकल सर्वे आफ इंडिया, व भारतीय वन सर्वेक्षण समेत दर्जनभर संस्थानों के जो वैज्ञानिक देश के साथ ही विदेशों में वैज्ञानिक शोध करने गए थे वह सभी देहरादून लौट आए हैं इतना ही नहीं कोरोना वायरस से खौफजदा इन तमाम वैज्ञानिकों ने फिलहाल वैज्ञानिक शोधों का काम पूरी तरह रोक दिया है। इन तमाम वैज्ञानिकों के निवेशकों की ओर से सख्त हिदायत दी गई है कि वे घरों में ही रहे और लॉक डाउन के कानूनों का पालन करें । भारतीय वन्यजीव संस्थान के निदेशक डॉ धनंजय मोहन ने बताया कि संस्थान के जो भी वैज्ञानिक वन्यजीवो पर शोध कर रहे थे वे तमाम वैज्ञानिक फिलहाल संस्थान लौट आए हैं और उन्होंने अपने को घरों में ही कोरेंटिन कर लिया है ।ऐसे में तमाम वैज्ञानिक शोध ठप हो हैं ।हालांकि कुछ वैज्ञानिक घरों में रहकर ही कंप्यूटर के जरिए शोध कर रहे हैं। वही वन अनुसंधान संस्थान के निदेशक अरुण सिंह रावत ने बताया कि फिलहाल तमाम तरह के शोध पर रोक लग गई है देश के देश के विभिन्न इलाकों में गए वैज्ञानिक शोध को बीच में ही छोड़कर संस्थान लौट आए हैं । जैसे ही स्थितियां सामान्य होगी फिर उसके बाद आगे कोई निर्णय लिया जाएगा। वाडिया इंस्टीट्यूट आफ हिमालयन जियोलॉजी के निदेशक डॉ कालाचंद साईं ने बताया कि कोरोना वायरस के चलते फिर हाल फील्ड में किए जाने वाले तमाम शोध रुक गए हैं वैज्ञानिक अपने अपने घरों पर रहकर ही रिसर्च पेपर तैयार कर रहे हैं ।जैसे ही कोरोना वायरस को लेकर कुछ स्थितियां सामान्य होगी तो आगे कोई निर्णय लिया जाए ।कमोवेश यही बात अन्य वैज्ञानिक संस्थानों के अधिकारियों ने बताई।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us