लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun ›   dhanaulti is a perfect tourist place

नेचर, एडवेंचर और वाइल्ड लाइफ का पैकेज

अमर उजाला, देहरादून Updated Mon, 30 Sep 2013 06:22 PM IST
dhanaulti is a perfect tourist place
विज्ञापन
ख़बर सुनें

धनोल्टी देवदार, बांझ और ओक के घने जंगलो के बीच स्थित उत्तराखंड का एक खूबसूरत हिल स्टेशन है। पहाड़ों की रानी मसूरी से चंबा मार्ग पर महज 24 किमी की दूरी पर यह स्थित है। धनोल्टी 2286 मीटर की ऊंचाई पर प्रकृति की गोद में बसा हुआ है, जहां से हिमालय की कई चोटियों का दीदार किया जा सकता है। तो फिर सोच क्या रहे हैं, राजधानी दून से 60 किमी दूर ही तो जाना है ना...हो जाइये तैयार प्रकृति की गोद में सुकून की नींद और हिमालय की ठंडक समेटने के लिए।



क्लाइमेट
धनोल्टी का क्लाइमेट इसे एक परफेक्ट वीकेंड प्लानर की सूची में खड़ा करता है। गर्मियों में धनोलटी का अधिकतम तापमान 32 से 37 डिग्री रहता है। इस दौरान भी यदि बारिश हो जाए तो तापमान में तेजी से गिरावट भी आ जाती है। सर्दियों में यही तापमान गिरकर माइनस 1 डिग्री सेल्सियस से भी नीचे चला जाता है। बर्फवारी देखने के लिए सामान्यतः यहां पर्यटक दिसंबर और जनवरी के महीने खासतौर पर अधिक पहुंचने लगते हैं।


आपके ठहरने का इंतजाम
पर्यटकों से भरे रहने के कारण धनोल्टी में कुछ दिन सुकून के गुजारने के लिए होटल और लॉज की कोई कमी नहीं है। वन विभाग के बंबू हट समेत गढ़वाल मंडल विकास निगम के गेस्ट हाउस आपके स्वागत के लिए यहां हर वक्त मौजूद हैं। आप ज्यादा बेहत्तर सुविधाएं चाहते हैं तो इसके लिए धनोल्टी के 8-10 किमी के दायरे में ही कई बेहतरीन होटल मौजूद हैं।

आपके लिए खास
यूं तो पूरा धनोल्टी ही अपने आप में खास है, लेकिन देवदार से घिरा इसका ईको पार्क, ढलवा पहाड़ियों पर छोटे-छोटे बिखरे हुए खेत और बादलों से झांकता हिमालय आपको बरबस ही अपनी ओर आकर्षित कर लेंगे।

वाइल्ड लाइफः धनोल्टी के आसपास घने जंगल होने से यहां भालू, तेंदुआ और हिरन की कुछ प्रजातियां अक्सर देखने को मिल जाती हैं, बशर्ते आपकी किस्मत मजेदार हो।

नेचरः हिमालय की चोटियों से लेकर धनोल्टी के तलहटी में फैली गांवो की घटियां और जंगल आपको प्रकृति के बेहद करीब होने का एहसास दिलाएंगे।

एडवेंचरः एडवेंचर के लिए यहां कई निजी होटल स्वामियों ने ट्री हट, साइकिलिंग और क्लाइबिंग की व्यवस्था की हुई है।

धार्मिक स्थल
धनोल्टी से चंबा मार्ग पर ही सात किलोमीटर आगे बढ़ने पर कद्दूखाल एक छोटा सा कस्बा है। यहीं से प्रसि। सिद्घपीठ सुरकंडा देवी तक जाने का मार्ग है। यहां से 4 किमी की चढ़ाई चढकर मंदिर तक पहुंचा जा सकता है। बेहद खूबसूरती से प्राचीन शैली का ख्याल रखते हुए मंदिर का सौन्दर्यीकरण किया गया है। मंदिर परिसर में जितनी आत्मशांति का आपको एहसास होगा शायद ही ऐसा अनुभव हिमालय की गोद में आप कहीं और पा सकें। कद्दूखाल में ही कुछ निजी लॉज के साथ ही गढ़वाल मंडल विकास निगम का गेस्ट हाउस भी बहुत कम दाम में आपको ठहरने की सुविधाएं मुहैया करवाने को यहां मौजूद है।

कैसे पहुंचे
धनोल्टी पहुंचने के लिए सबसे नजदीकी एयरपोर्ट जौलीग्रांट है, जहां के लिए दिल्ली से नियमित उड़ाने हैं। इसके अलावा देहरादून तक रेलमार्ग या बस के जरिए भी यहां से आगे बस और टैक्सी से धनोल्टी पहुंचा जा सकता है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00