लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Cricket ›   Cricket News ›   Supreme Court Says BCCI is a 'shop,' provisions of ESI Act applicable

BCCI: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- बीसीसीआई की गतिविधियों से ‘दुकान’ जैसी होती है कमाई, लागू होगा ESI कानून

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, मुंबई Published by: स्वप्निल शशांक Updated Wed, 31 Aug 2022 11:38 PM IST
सार

जस्टिस एमआर शाह और जस्टिस पीएस नरसिम्हा की पीठ ने कहा, ईएसआई कोर्ट या हाईकोर्ट ने बीसीसीआई को दुकान मानने में कोई गलती नहीं की है। बीसीसीआई की गतिविधियों को देखें तो टिकट बेचना, मनोरंजन कराना, कीमत पर सुविधाएं व सेवाएं देना, अंतरराष्ट्रीय टूरों से कमाई करना, आईपीएल से कमाई करना आदि।

बीसीसीआई
बीसीसीआई - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

सुप्रीम कोर्ट ने कहा- भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (बोर्ड) की गतिविधियों से कमाई होती है। कर्मचारी राज्य बीमा कानून के प्रावधानों को लागू करने के लिए इसे दुकान माना जा सकता है। शीर्ष अदालत ने कहा, ईएसआई अधिनियम केंद्र द्वारा अधिनियमित कल्याणकारी कानून है। इसमें इस्तेमाल शब्दों के साथ कोई संकीर्ण अर्थ नहीं जोड़ा जाना चाहिए, क्योंकि यह कर्मचारियों के जीवन का बीमा करने का प्रयास करता है और नियोक्ता पर आरोप लगाता है। 


बोर्ड के आयस्रोत से उसे दुकान मानना गलती नहीं
जस्टिस एमआर शाह और जस्टिस पीएस नरसिम्हा की पीठ ने कहा, ईएसआई कोर्ट या हाईकोर्ट ने बीसीसीआई को दुकान मानने में कोई गलती नहीं की है। बीसीसीआई की गतिविधियों को देखें तो टिकट बेचना, मनोरंजन कराना, कीमत पर सुविधाएं व सेवाएं देना, अंतरराष्ट्रीय टूरों से कमाई करना, आईपीएल से कमाई करना आदि। ये सभी आय के स्रोत हैं और इसलिए ईएसआई कोर्ट व हाईकोर्ट ने इसे दुकान कहने में कोई गलती नहीं की है। इस पर ईएसआई कानून के प्रावधान लागू होने चाहिए। पीठ इस मुद्दे पर सुनवाई कर रही थी कि क्या बीसीसीआई को 18 सितंबर 1978 को अधिसूचित ईएसआई कानून के तहत दुकान माना जाना चाहिए या नहीं। 


बोर्ड की दलील को ठुकराया
बॉम्बे हाईकोर्ट ने अपने आदेश में कहा था कि बीसीसीआई दुकान की परिभाषा के अंदर आता है और इसमें ईएसआई कानून के प्रावधान लागू होते हैं। शीर्ष अदालत ने कहा, यहां दुकान शब्द की पारंपरिक अर्थों में व्याख्या नहीं की जानी चाहिए। इससे ईएसआई अधिनियम के उद्देश्य की पूर्ति नहीं होगी। पीठ ने कहा, बीसीसीआई की इस दलील में कोई तथ्य नहीं हे कि वह क्रिकेट और खेल को बढ़ावा देने के लिए सारी गतिविधियां करता है इसलिए उसे दुकान के रूप में परिभाषित नहीं करना चाहिए।
 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें क्रिकेट समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। क्रिकेट जगत की अन्य खबरें जैसे क्रिकेट मैच लाइव स्कोरकार्ड, टीम और प्लेयर्स की आईसीसी रैंकिंग आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00