Hindi News ›   Cricket ›   Cricket News ›   IPL 2021, 1st Phase: When Brutal Kieron Pollard 87 runs helps Mumbai indians to register incredible win against chennai super kings

IPL 2021: पहले चरण में जब पोलार्ड ने अकेले दम पर पलट दी थी बाजी, चेन्नई के खिलाफ मुंबई को दिलाई थी ऐतिहासिक जीत

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: Rajeev Rai Updated Sun, 19 Sep 2021 06:00 AM IST

सार

इंडियन प्रीमियर लीग 2021 के पहले चरण में जब पोलार्ड ने अकेले दम पर मैच को चेन्नई की मुट्ठी से निकालकर मुंबई की झोली में डाल दिया था।
मुंबई बनाम चेन्नई
मुंबई बनाम चेन्नई - फोटो : Social media
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

इंडियन प्रीमियर लीग की दो सबसे सफल टीमें मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स एक बार फिर से आमने-सामने होंगी। दुबई में 19 सितंबर (रविवार) को होने वाले इस मुकाबले में धोनी की अगुवाई वाली चेन्नई सुपर किंग्स जब मैदान में उतरेगी तो उसे पोलार्ड की वह पारी जरूर याद आएगी जिसमें उन्होंने अकेले दम पर मैच को पलटकर रख दिया था। हम बात कर रहे हैं भारत में इसी साल एक मई को हुए पहले चरण के उस मुकाबले की जिसमें पोलार्ड ने अपनी आतिशी पारी के दम पर सीएसके की मुट्ठी से मैच को निकाल लिया था। ऐसे में आइए जानते हैं उस रोमांचक मुकाबले का पूरा हाल। 

विज्ञापन

डुप्लेसिस-अली की अर्धशतकीय पारियां

दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीता और धोनी की अगुवाई वाली चेन्नई सुपर किंग्स को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया। चेन्नई की शुरुआत अच्छी नहीं रही और चार रन के स्कोर पर ही ऋतुराज गायकवाड़ बोल्ट की गेंद पर पवेलियन लौट गए। हालांकि इसके बाद मोईन अली (58) और फाफ डुप्लेसिस (50) ने जबरदस्त बल्लेबाजी की और दूसरे विकेट के लिए शतकीय साझेदारी की।

दोनों ही खिलाड़ियों ने अपने-अपने अर्धशतक भी पूरे किए और टीम के स्कोर को 11वें ओवर में 112 रन तक पहुंचा दिया। इससे पहले कि दोनों खिलाड़ी अपनी साझेदारी को बड़ी कर पाते, जसप्रीत बुमराह ने मोईन अली को डिकॉक के हाथों कैच कराकर मुंबई को बड़ी सफलता दिलाई। इसके बाद महज चार रन के अंदर ही चेन्नई ने डुप्लेसिस और रैना के विकेट भी गंवा दिए। 

रायुडू का 20 गेंदों में अर्धशतक

एक समय सीएसके का स्कोर 12 ओवर के बाद 116/4 हो गया था। लेकिन इसके बाद पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे अंबाती रायडू ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की और महज 20 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया। पारी की समाप्ति पर वह 27 गेंदों में 72 रन बनाकर नाबाद रहे। यही नहीं उन्होंने रविंद्र जडेजा के साथ मिलकर पांचवें विकेट के लिए शतकीय साझेदारी की और मुंबई के सामने 219 रनों का विशाल लक्ष्य रख दिया। चेन्नई की टीम 2008 के बाद पहली बार मुंबई के खिलाफ 200 से ज्यादा का स्कोर खड़ा करने में सफल रही। मुंबई की तरफ से पोलार्ड सबसे सफल गेंदबाज रहे, उन्होंने दो ओवर में 12 रन देकर दो बड़े विकेट अपने नाम किए।

मुंबई की मजबूत शुरुआत

लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई की टीम को कप्तान रोहित शर्मा और क्विंटन डिकॉक ने मिलकर एक मजबूत और तेज शुरुआत दिलाई और पहले विकेट के लिए आठवें ओवर में ही 71 रन जोड़ दिए। हालांकि शार्दूल ठाकुर ने रोहित को आउट कर मुंबई को पहला झटका दिया। इसके बाद देखते ही देखते मुंबई ने 10 रन के अंदर सूर्यकुमार यादव और डिकॉक के विकेट भी गंवा दिए। मुंबई का स्कोर भी तीन विकेट के नुकसान पर 81 रन हो गया और वह मुश्किल में दिखने लगी। हालांकि इसके बाद क्रुणाल पांड्या और कीरोन पोलार्ड ने पारी को संभाला और तेजी से रन बटोरे। दोनों ने मिलकर सिर्फ 41 गेंदों में ही 89 रनों की साझेदारी कर डाली। 

करन ने मैच को बनाया रोमांचक

दोनों के बीच होती साझेदारी को देख धोनी ने 17वें ओवर में गेंद सैम करन को दी और उन्होंने आते ही क्रुणाल को पवेलियन की राह दिखा दी। क्रुणाल के आउट होने के बाद हार्दिक ने भी तूफानी शुरुआत की और 19वें ओवर में करन के ओवर में लगातार दो छक्के जड़े लेकिन चौथी गेंद पर एक और छक्का लगाने की कोशिश में वह डुप्लेसिस को कैच थमा बैठे। इसी ओवर की आखिरी गेंद पर जेम्स नीशम भी ठाकुर को कैच थामकर चलते बने। यहां से एक सैम करन ने एक बार फिर से मैच को चेन्नई की तरफ मोड़ दिया। 

मुंबई को आखिरी ओवर में चाहिए थे 16 रन

मुंबई की टीम को अब जीत के लिए आखिरी ओवर में 16 रन की दरकार थी और पोलार्ड के सामने थे लुंगी एनगिडी। पोलार्ड ने यहां कोई ढिलाई नहीं बरती और ओवर की दूसरी और तीसरी गेंद पर चौका जड़ा, इसके बाद उन्होंने पांचवीं गेंद पर छक्का लगाने के बाद अंतिम गेंद पर दो रन लेकर टीम को यादगार जीत दिला दी।

पोलार्ड का 17 गेंदों में पचासा 

पोलार्ड ने मैदान में उतरने के साथ ही अपने इरादे जाहिर कर दिए। उन्होंने जडेजा के द्वारा किए गए 13वें ओवर में तीन और 14वें ओवर में लुंगी एनगिडी के खिलाफ दो छक्के जड़े। पोलार्ड यहीं नहीं रुके और उन्होंने अगले ओवर में शार्दूल का स्वागत भी छक्के के साथ किया और लगातार तीन चौके लगाकर 17 गेंदों में मौजूदा सत्र का सबसे तेज अर्धशतक पूरा किया। पोलार्ड मैच की समाप्ति पर 34 गेंदों में 87 रन बनाकर नाबाद रहे। उन्होंने अपनी आतिशी पारी में छह चौके और आठ छक्के लगाए। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें क्रिकेट समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। क्रिकेट जगत की अन्य खबरें जैसे क्रिकेट मैच लाइव स्कोरकार्ड, टीम और प्लेयर्स की आईसीसी रैंकिंग आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00