एशेज बरकरार रखना ऑस्ट्रेलिया के जख्मों पर मरहम की तरह

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला Updated Tue, 10 Sep 2019 07:52 AM IST
विज्ञापन
स्टीव स्मिथ
स्टीव स्मिथ - फोटो : social media

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
गेंद से छेड़खानी विवाद के बाद आलोचनाओं और छवि खराब होने की शर्मिंदगी झेल रहे ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट का सिर एशेज ट्रॉफी बरकरार रखने से एक बार फिर फख्र से ऊंचा हो गया है। देश की मीडिया ने टीम की जमकर सराहना की है। 
विज्ञापन

करीब 18 महीने पहले ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट विवादों से घिरा था जब तत्कालीन कप्तान स्टीव स्मिथ, उपकप्तान डेविड वॉर्नर और सलामी बल्लेबाज कैमरन बेनक्रॉफ्ट पर गेंद से छेड़खानी के आरोप लगे थे। 
इस विवाद से ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट पर अंगुली उठी और खेल भावना पर बहस छिड़ गई। तीनों क्रिकेटरों पर प्रतिबंध लगा और तत्कालीन कोच डैरेन लीमैन को पद छोड़ना पड़ा। जस्टिन लैंगर को नया कोच बनाया गया और ड्रेसिंग रूम के माहौल में काफी बदलाव आया।
 
एक साल का प्रतिबंध झेलकर वापसी करने वाले स्टीव स्मिथ चौथे एशेज टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया की जीत के सूत्रधार रहे। सिडनी मॉर्निं हेरल्ड ने कहा, 'इस एशेज को स्मिथ की एशेज के रूप में याद रखा जायगा।' स्मिथ ने 134.2 की औसत से 3 शतक समेत 671 रन बना लिए हैं जिसमें चौथे टेस्ट में जड़ा दोहरा शतक भी शामिल है।
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें क्रिकेट समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। क्रिकेट जगत की अन्य खबरें जैसे क्रिकेट मैच लाइव स्कोरकार्ड, टीम और प्लेयर्स की आईसीसी रैंकिंग आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us