डीटीएच-केबल पर 1 फरवरी से लागू होंगे नए नियम, कोर्ट ने हटाया बैन

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Published by: paliwal पालीवाल Updated Thu, 31 Jan 2019 08:47 PM IST
new tariff regime on dth cable tv will be implemented from 1 feb as highcourt lifted ban
विज्ञापन
ख़बर सुनें
 ट्राई की नई ब्रॉडकास्टिंग नीति शुक्रवार से लागू हो जाएंगी। करीब 83 फीसदी डीटीएच और केबल ग्राहकों ने पसंदीदा चैनल व मनचाहे पैक चुन लिए हैं। वहीं, ट्राई ने डीटीएच सेवा प्रदाताओं को लंबी अवधि के प्री-पेड पैक जारी रखने की छूट दे दी है।
विज्ञापन


ट्राई चेयरमैन आरएस शर्मा ने कहा कि नई नीति का फायदा ग्राहकों को मिलेगा। अब तक ग्राहक डीटीएच और केबल ऑपरेटर के मुताबिक ही चैनल देख सकते थे। नई नीति से उन्हें किसी चैनल को देखना या नहीं देखने की आजादी मिली है। इससे पैक में अनावश्यक चैनल का बेतुका खर्च भी बचेगा। 




शर्मा ने कहा कि ग्राहक चाहें तो अभी चैनल चुन सकते हैं या रिचार्ज करते वक्त चुनाव कर सकते हैं। अगर अभी चैनलों का चुनाव करते हैं तो बची हुई राशि का इस्तेमाल हो जाएगा। बाद में चुनाव करेंगे तो नए हिसाब से रिचार्ज होगा। नए नियम से ग्राहक, सेवा प्रदाता और चैनल के बीच संतुलन रहेगा। बेतुकी बढ़ोतरी तत्काल उपभोक्ता की नजर में आ जाएगी। 

ट्राई के चेयरमैन ने बताया कि जिन लोगों ने लंबी अवधि के प्लान ले रखे हैं, उन्हें जारी रखने या बदलाव करने की छूट है। डीटीएच और केबल ग्राहक 1 फरवरी के बाद भी अपने पसंदीदा चैनल या कॉम्बो पैक का चुनाव कर सकेंगे। ऐसा नहीं करने पर वे सिर्फ फ्री टू एयर चैनल ही देख पाएंगे। 

दबाव के आगे नहीं झुका ट्राई

ब्रॉडकास्टिंग क्षेत्र ने दूरसंचार नियामक के नए नियमों का भारी विरोध किया था। कुछ डीटीएच और केबल सेवा प्रदाता ने कोर्ट का दरवाजा भी खटखटाया था, लेकिन ट्राई नई नीति लागू कराने पर अडिग रहा। इस दौरान तमाम कयास लगाए गए कि नई नीति से शुल्क में बढ़ोतरी हो जाएगी। 1 फरवरी के बाद चैनल ब्लैकआउट हो जाएंगे, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ और 83 फीसदी ग्राहकों ने पसंदीदा चैनल चुन लिए। 

नियामक ने मंजूर नहीं होने दी रोक की मांग 

ट्राई ने डीटीएच और केबल सेवा प्रदाता संघों के साथ कई बार बैठक कर उन्हें वेबसाइट, एप और कॉल सेंटर के जरिये ग्राहकों को पसंदीदा चैनल चुनने के लिए प्रेरित करने को कहा। अपनी वेबसाइट पर भी पैक चुनने की सुविधा मुहैया कराई।

दस दिन पहले 50 फीसदी के करीब ग्राहक जुड़ने के बाद यह आंकड़ा 100 फीसदी तक पहुंचाने के लिए नियामक ने लापरवाही बरतने वालों को चेतावनी दी। इस दौरान दिल्ली से लेकर कलकत्ता हाईकोर्ट तक ट्राई ने नई नीति के फायदों को स्पष्ट किया और रोक की मांग मंजूर नहीं होने दी।

ऐसे बनाई गई नीति

ट्राई ने अपनी वेबसाइट पर 42 प्रसारणकर्ताओं के कुल 332 चैनलों का शुल्क स्पष्ट किया है। एक रुपये से लेकर 19 रुपये तक के चैनलों की सूची वेबसाइट पर है। अगर कोई कॉम्बो पैक या चैनल नहीं चुना जाता है तो ग्राहक को प्रति माह 130 रुपये ही देने होंगे। इसमें उसे 100 चैनल मिलेंगे। इसमें 65 फ्री टू एयर चैनल शामिल होंगे, जिनमें दूरदर्शन के 23 चैनल, तीन संगीत के चैनल, तीन समाचार चैनल और तीन फिल्म के चैनल हैं। इससे इतर अगले 25 चैनल के लिए ग्राहक को 20 रुपये अतिरिक्त देने होंगे। देश में 16.6 करोड़ घरों में केबल टीवी और डीटीएच है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00