भाजपाइयों ने देखी गेहूं खरीद की व्यवस्था

Rampur Updated Thu, 10 May 2012 12:00 PM IST
रामपुर। भाजपाइयों ने गेहूं खरीद केंद्रों पर जाकर स्थिति का जायजा लिया। खरीद की जानकारी ली और किसानों की समस्याएं जानी। अधिकतर केंद्रों पर बारदाने की कमी पाई गई।
प्रदेश व्यापी कार्यक्रम के तहत पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक सूर्यप्रकाश पाल, पूर्व जिलाध्यक्ष राकेश मिश्रा, पूर्व जिला प्रवक्ता राजीव मांगलिक ने किसान सेवा सहकारी समिति अजीतपुर समेत कई केंद्रों पर जाकर जायजा लिया। किसानों की समस्याएं जानीं। भाजपाइयों का कहना था कि गेहूं खरीद में किसानों का शोषण हो रहा है। अधिकतर केंद्रों पर वारदाना नहीं है, इसलिए किसानों का गेहूं नहीं खरीदा जा रहा है। बल्कि बिचौलियों का गेहूं उसी वक्त तुल जाता है। उनका कहना था कि किसान बिचौलियों के हाथों सस्ते में गेहूं बेचने को मजबूर हैं। पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष ख्यालीराम लोधी, महामंत्री मनोहर लाल सैनी, रूप बसंत, जगत सिंह, बशीर अहमद और अमृत पाल सिंह ने दिलपुरा किसान सेवा केंद्र, लालपुर किसान सेवा केंद्र काशीपुर, मानकपुर केंद्र पर पहुंचे।
वारदाना न होने से लालपुर केंद्र बंद मिला। किसान ट्रेक्टर ट्रालियों से गेहूं लाए थे। खरीद न होने पर ट्रालियां काफी से खड़ी थीं और बाद में किसानों को अपना गेहूं वापस ले जाना पड़ा। कमेटियों ने अपनी-अपनी रिपोर्ट प्रदेशाध्यक्ष को भेज दी है। उनके माध्यम से रिपोर्ट राज्यपाल को भेजी जाएगी।

Spotlight

Related Videos

ट्रेन से कहीं जाने की सोचने से भी पहले ये खबर जरूर देखें

हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर के कई इलाकों में बर्फबारी का असर दिल्ली-NCR समेत उत्तर भारत में दिखाई दिया।

24 जनवरी 2018