बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

आगे तक पहुंचाएंगे शिक्षामित्रों की बात: धर्मेंद्र

Badaun Updated Mon, 07 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
बदायूं। आदर्श शिक्षामित्र वेलफेयर एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने सांसद धर्मेंद्र यादव का स्वागत किया। इस दौरान तीन सूत्री ज्ञापन भी सौंपा। इसमें शिक्षामित्रों को अप्रशिक्षित शिक्षक वेतनमान दिए जाने, शिक्षक पद पर समायोजित करने आदि की मांग शामिल हैं। सांसद ने उनकी बात आगे पहुंचाने का वादा किया।
विज्ञापन

इस्लामियां इंटर कॉलेज में हुए स्वागत समारोह में सभी पदाधिकारियों ने सांसद और संगठन के प्रदेश अध्यक्ष जितेंद्र शाही को पगड़ी पहनाई। सांसद ने कहा कि शिक्षामित्रों की समस्याओं का हल किया जाएगा। उनकी बात वह आगे तक पहुंचाएंगे। इस मौके पर पूर्व ब्लाक प्रमुख देवेंद्र सिंह यादव, सतीश मिश्रा, जिलाध्यक्ष निर्भान सिंह यादव, महामंत्री सतीश चंद्र गुप्ता, राजीव कुमार सिंह, महेशपाल सिंह यादव, बाबू खां, कौशर अली, मुनेंद्रपाल सिंह, अनेक पाल,रामगोपाल, संजीत कुमार, सत्येंद्र शर्मा, चरन सिंह यादव आदि रहे।

सांसद ने दातागंज क्षेत्र का दौरा किया। उन्होंने सदस्य एम फीरोज के आवास पर बैठक कर लोकसभा चुनाव की तैयारी में कार्यकर्ताओं से जुटने का आह्वान किया। इस मौके पर पूर्व विधायक प्रेमपाल सिंह यादव, विधायक ओमकार सिंह यादव, नईम, इंद्रपाल सिंह यादव, गुड्डू यादव, शाकिर अली, लतीफ अहमद, अहमद मंसूरी, नदीम, वसीम, अजीम, सुमित वर्मा, टीटू आदि रहे।
----
कई संगठनों ने दिया सांसद को ज्ञापन
बदायूं। विशिष्ट बीटीसी शिक्षक मंच ने मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सांसद धर्मेंद्र यादव को दिया। उन्होंने प्राथमिक-उच्च प्राथमिक स्कूलों में नियुक्त विशिष्ट बीटीसी शिक्षकों को अंतरजनपदीय स्थानांतरण प्रदान कर अपने गृह जनपद में स्थानांतरित करने की मांग की। ज्ञापन देने वालों में जिला संयोजक शशांक यादव, अनिल कुमार सिंह, पवन राय, नंदलाल, धर्मेंद्र सिंह, रत्नेश आदि थे। शिक्षकों कहा कि स्थानांतरण को लेकर बैठक दस मई को एसके इंटर कालेज मैदान पर होगी। सभी शिक्षक पहुंचे।
इनके अलावा अखिल भारतीय हिंदू क्रांति दल के जिलाध्यक्ष मुकेश सिंह पटेल ने सांसद को दिए ज्ञापन में कहा है कि सपा शासन की ओर से अल्पसंख्यकों को बढ़ावा देने का कार्य जोरों पर चल रहा है। मगर ऐसे में एक पक्ष में एक तरफा फैसला लेना न्यायसंगत नहीं है। मुस्लिम समुदाय की लड़कियों को तीस हजार रुपये दिए जाने की घोषणा की। जबकि दूसरे समुदाय की लड़कियों को वंचित रखा गया है। इसलिए सर्व समाज को ध्यान में रखा जाए। जातिगत व धर्म के आधार पर लाभ न दिया जाए। ज्ञापन पर शिवम त्रिपाठी, कृष्ण कुमार मथुरिया, नितिन सिंघल, राजू कश्यप, प्रदीप गुप्ता, महेश चंद्र, उत्तम बंगाली, संजीव आदि रहे।
उर्दू बेरोजगारों ने भी यूटीसी डिग्री धारकों को सहायक उर्दू अध्यापक के पद पर तथा उर्दू स्नातकों, उर्दू बीएड, उर्दू ट्रांसलेटरों की भर्ती करने को लेकर ज्ञापन दिया है। ज्ञापन देने वालों में जिया अंसारी, शाकिर मियां, नईम खान, नजीर अहमद आदि रहे। इनके अलावा शिक्षामित्र विनोद कुमार सिंह, आरती कुमारी, गीता देवी, चेतेंद्र कुमार सिंह, संतोष कुमारी, अनीता भारती ने दिए ज्ञापन में कहा है कि उन्हें दो वर्षीय दूरस्थ शिक्षा बीटीसी परीक्षा में सम्मिलित किए जाने की मांग की है। टीबी कंट्रोल प्रोग्राम इम्प्लाइज एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने नियमित किए जाने की मांग की है। जिलाध्यक्ष इजहार मोहम्मद खां आदि ने ज्ञापन दिया।
भारतीय किसान यूनियन और बहुजन किसान दल के कार्यकर्ताओं ने भी किसानों की समस्याओं के निराकरण की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us