बहनोई ने की थी छात्रा सुमन की हत्या

Badaun Updated Sun, 06 May 2012 12:00 PM IST
उझानी(बदायूं)। गौतमपुरी की छात्रा सुमन श्रीवास्तव की हत्या के मामले का शनिवार को पुलिस ने सहसवान क्षेत्र के गांव उस्मानपुर के जितेंद्र को दबोच कर खुलासा कर दिया। जितेंद्र मृतका की चचेरी बहन का पति है और वह उससे शादी करना चाहता था। चूंकि सुमन की शादी उसके घरवालों ने दूसरी जगह तय कर दी, इसलिए जितेंद्र ने सुमन की गला दबाकर हत्या कर दी।
नगर के गौतमपुरी निवासी भंवरपाल श्रीवास्तव की पुत्री सुमन की लाश एक अप्रैल को बाइपास स्थित अंबेडकर पार्क के समीप गेहूं की फसल में पड़ी मिली थी। वह इंटर की छात्रा थी। मृतका के पिता ने अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। कोतवाल एके सिंह ने बताया कि मृतका के सेलफोन की कॉल डिटेल के आधार पर कातिल तक पहुंचने में सफलता मिली। इस आधार पर सहसवान क्षेत्र के गांव उस्मानपुर के जितेंद्र को दबोचा कर पूछताछ की तो हत्याकांड का परत दर परत खुलासा होता चला गया। जितेंद्र ने पुलिस को बताया कि वह सुमन से प्यार करता था। सुमन से उसने यह भी कहा था कि परिजनों ने जहां शादी तय की है, उसे वह मना कर दे। ऐसा न मानने पर जितेंद्र ने सुमन की हत्या कर दी। उस्मानपुर से आकर जितेंद्र ने ही सुमन को फोन करके खेत में बुलाया था और वहीं गला दबाकर हत्या कर दी। गिरफ्तारी के बाद सीओ एमएस राना ने भी जितेंद्र से पूछताछ की। मृतका के परिजनों से भी उसका सामना कराया गया। दोपहर बाद पुलिस ने आरोपी जितेंद्र को कोर्ट में पेश किया। बाद में उसे जेल भेज दिया गया। यहां बता दें कि अमर उजाला ने सुमन के कत्ल में तीन दिन पहले ही करीबी का हाथ होने का शक जताया था।

Spotlight

Related Videos

अमित शाह ने किया उद्धव ठाकरे को फोन समेत 5 बड़ी खबरें

अमर उजाला टीवी पर देश-दुनिया की राजनीति, खेल, क्राइम, सिनेमा, फैशन और धर्म से जुड़ी से जुड़ी खबरें। देखिए LIVE BULLETINS - सुबह 7 बजे, सुबह 9 बजे, 11 बजे, दोपहर 1 बजे, दोपहर 3 बजे, शाम 5 बजे और शाम 7 बजे।

19 जुलाई 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen