जनगणना शिक्षकों को प्रशिक्षण से मिली मुक्ति

Badaun Updated Sun, 06 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

बदायूं। आर्थिक और सामाजिक आधार पर जनगणना के लिए जिन शिक्षकों को ट्रेनिंग दी जानी थी, उससे उन्हें मुक्ति मिल गई है। सीडीओ सूर्यपाल गंगवार ने डीआईओएस सुशीला अग्रवाल को इन शिक्षकों को प्रशिक्षण से मुक्त करने के आदेश दिए हैं। इससे चयनित शिक्षकों ने राहत की सांस ली है। बताया जा रहा है कि यूपी बोर्ड परीक्षा की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन हो रहा है। इसके कारण उन्हें मुक्त किया गया है।
विज्ञापन

विदित हो कि जनगणना का द्वितीय चरण सामाजिक और सामाजिक आधार था। इसकी तैयारी जिला प्रशासन ने शुरु कर दी है। इसकी शुरुआत ट्रेनिंग से होनी थी, लेकिन इस पर ब्रेक लग गया। शुक्रवार को डीआईओएस ने 60 शिक्षकों का चयन इस ट्रेनिंग के लिए कर दिया था। इन्हें बरेली में सात मई को संजय कम्यूनिटी हाल में प्रशिक्षण पाना था, लेकिन सीडीओ ने चयनित शिक्षकों को प्रशिक्षण से मुक्त करने के आदेश दिए हैं। इस पर डीआईओएस ने भी शिक्षकों को मुक्त कर दिया है।
सूत्रों का कहना है कि प्रशिक्षण के लिए जिन शिक्षकों का चयन किया गया था वह मूल्यांकन कार्य में लगे हैं। मूल्यांकन का कार्य अभी पूरा नहीं हुआ। उसके बाद इन शिक्षकों को प्रशिक्षण दिए जाने की योजना है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us