पूर्व मुख्यमंत्रियों ने किए सरकारी आवास खाली

अमर उजाला ब्यूरो नैनीताल Updated Fri, 17 Feb 2017 12:48 AM IST
The former Chief Ministers vacate
अदालत - फोटो : file
हाईकोर्ट ने पूर्व मुख्यमंत्रियों द्वारा सरकारी आवास खाली किए जाने के मामले पर सुनवाई के बाद सरकार को बाजार दर पर पूर्व मुख्यमंत्रियों से किराया वसूलने का ब्यौरा मांगा है। पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी ने भी कोर्ट को बताया कि उन्होंने सरकारी आवास खाली कर दिया है।
बृहस्पतिवार को वरिष्ठ न्यायमूर्ति राजीव शर्मा एवं न्यायमूर्ति सुधांशु धूलिया की खंडपीठ के समक्ष मामले की सुनवाई हुई। रूलक (रूरल लिटिगेशन एंड इनटाइटलमेंट केंद्र) ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर कर कहा था कि पूर्व मुख्यमंत्रियों को सरकार आवास और अन्य सुविधाएं दे रही है।

इससे आम जनता के धन का दुरुपयोग हो रहा है। याची का कहना था कि पूर्व मुख्यमंत्रियों से सरकारी आवास में निवास की अवधि का किराया भी वसूला जाए। पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा पूर्व में आवास खाली करने के बारे में कोर्ट को अवगत कराते हुए कहा कि सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों ने आवास खाली कर दिए हैं।

पूर्व में हाईकोर्ट में पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी ने शपथपत्र दाखिल कर अपने स्वास्थ्य का हवाला देते हुए कहा था कि उन्हें आवास खाली करने के लिए 31 मार्च तक का अतिरिक्त समय प्रदान किया जाए।

बृहस्पतिवार को सुनवाई के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी के अधिवक्ता की ओर से कोर्ट को बताया गया कि उनके द्वारा बीती शाम को आवास खाली कर दिया गया है। इस आधार पर उनके द्वारा दाखिल शपथपत्र को वापस ले लिया गया।

याचिकाकर्ता के अधिवक्ता की ओर से कहा गया कि आवास खाली कर दिए गए हैं, लेकिन उसका किराया अभी तक नहीं दिया गया है।

पक्षों की सुनवाई के बाद हाईकोर्ट की खंडपीठ ने मामले की अगली सुनवाई के लिए दो सप्ताह बाद की तिथि नियत करते हुए सरकार को इस संबंध में शपथपत्र दाखिल कर यह बताने को कहा है कि अभी तक किस प्रकार और किस किससे किराया वसूला जा चुका है।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Kanpur

बसपा को लगा एक और झटका, इस नेता ने थामा कांग्रेस का साथ

लोकसभा चुनाव आते ही चुनावी उठापटक का दौर शुरू हो गया। यूपी के कानपुर से सीसामऊ विधानसभा क्षेत्र से बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ चुके हाजी मोहम्मद वसीक समर्थकों के साथ शनिवार को कांग्रेस में शामिल हो गए।

25 फरवरी 2018

Related Videos

देहरादून में आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार, ये हैं आरोप

वेतनमान बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहीं आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बता दें कि आशा कर्यकर्ता देहरादून के परेड ग्राउंड के पास धरना प्रदर्शन कर रही थीं जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

14 अक्टूबर 2017

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen