बेरोजगारों से लाखों रुपये लेकर एनजीओ चंपत

अमर उजाला ब्यूरो हल्द्वानी Updated Sun, 05 Mar 2017 01:09 AM IST
NGOs make off with millions of unemployed
बेरोजगारों से लाखों रुपये लेकर एनजीओ चंपत - फोटो : अमर उजाला
कालाढूंगी रोड पीलीकोठी स्थित एक एनजीओ के अधिकारियों ने रोजगार के सपने दिखाकर बेरोजगार युवकों से 500-500 रुपए वसूल किए और बाद में चंपत हो गए। एनजीओ का कार्यालय बंद होने पर बेरोजगारों की भीड़ कार्यालय पर लग गई।

इस मामले में परेशान लोगों ने सीओ से लिखित शिकायत की है। आरोप लगाया कि एनजीओ प्रदेश के करीब दस हजार लोगों से पैसा लेकर चंपत हुई है।  देवलचौड़ निवासी सतीश भट्ट ने बताया कि एनजीओ ने जनवरी 2017 में सपना दिखाया था कि स्वास्थ्य के लिए सर्वे करने पर उनको दस हजार रुपए प्रतिमाह मिलेगा।

एनजीओ का सदस्य बनने के लिए सिर्फ 500 रुपए फीस ली जाएगी। एनजीओ ने देहरादून स्थित मुख्यालय में साक्षात्कार लेने के बाद हल्द्वानी की पूजा शाह को राज्य कार्यक्रम अधिकारी नियुक्त किया था। संस्था के लुभावने सपनों में आकर कुमाऊं के हजारों लोग सदस्य बन गए और सर्वे करने लगे।

शुक्रवार को कार्यालय बंद होने की जानकारी मिलने के बाद बेरोजगार युवकों की भीड़ काफी संख्या में इकट्ठा हो गई। मकान मालिक एवं ग्राम प्रधान राजीव शाह का कहना है कि संस्था के प्रमुख दिलीप गुप्ता ने उनका किराया भी अदा नहीं किया।

इस संस्था ने दो कार्यक्रम शहर के होटलों में आयोजित किए थे। बीपीओ ज्ञानेंद्र कुमार का कहना था कि एनजीओ ने रानीबाग स्थित एक होटल को बुक कराने के लिए चेक दिया था लेकिन चेक बाउंस हो गया। इसी प्रकार रामनगर के श्याम सिंह, शेखर चंद, पाटकोट के मनोज सहित काफी संख्या में बेरोजगार युवक खुद को ठगा महसूस कर रहे हैं।

संस्था का प्रचार इतना हो गया था कि कई प्रधानों ने अपने लोगों को सदस्य बनाया था। कार्यालय बंद होने के बाद लोग परेशान हैं। इस मामले में एनजीओ के मुख्य अधिकारी को पकड़ने के लिए कुछ लोग पौड़ी गए हैं। पुलिस इस घटना की जांच कर रही है। सीओ लोकजीत सिंह ने बताया कि इस मामले में पुलिस की एक टीम जांच के लिए बनाई गई है।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

तेज धमाके के बाद खुला दिल्ली की 150 फुट लंबी सुरंग का राज, ये थी बनाए जाने की वजह

राजधानी दिल्ली के द्वारका में 150 फुट लंबी सुरंग मिलने से सनसनी मच गई है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार, ये हैं आरोप

वेतनमान बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहीं आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बता दें कि आशा कर्यकर्ता देहरादून के परेड ग्राउंड के पास धरना प्रदर्शन कर रही थीं जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

14 अक्टूबर 2017