French Open: कोरोना के डर से इस साल फ्रेंच ओपन नहीं खेलेंगी गत चैंपियन एश्ले बार्टी

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला Updated Tue, 08 Sep 2020 10:40 AM IST
विज्ञापन
एश्ले बार्टी
एश्ले बार्टी - फोटो : सोशल मीडिया

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी व गत चैंपियन एश्ले बार्टी कोरोना महामारी के डर से इस साल फ्रेंच ओपन में हिस्सा नहीं लेंगी। उन्होंने खुद मंगलवार को इस बात की घोषणा की। उन्होंने कहा कि यह मेरे लिए कठिन फैसला है, लेकिन परिवार और टीम पहले है। सोशल मीडिया पर एक पोस्ट के जरिए बार्टी ने कहा, 'पिछले साल का फ्रेंच ओपन मेरे करियर का सबसे खास टूर्नामेंट था इसलिए यह फैसला कोई ऐसा-वैसा नहीं था, जिसे मैंने इतने हल्के में लिया है।'
विज्ञापन

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

It has been a difficult decision to make but unfortunately I will not be competing in Europe this year. Last year’s French Open was the most special tournament of my career so this is not a decision I have made lightly. There are two reasons for my decision. The first is the health risks that still exist with Covid. The second is my preparation, which has not been ideal without my coach being able to train with me due to the state border closures in Australia. I wish the players and the French Federation all the best for a successful tournament. I now look forward to a long preseason and the summer in Australia. It has been a challenging year for everyone and although I am disappointed on a tennis front, the health and well-being of my family and my team will always be my priority. Thank you to my fans for your continued support, I can’t wait to play for you again.

A post shared by Ash Barty (@ashbarty) on

 

उन्होंने लिखा, 'यह फैसला लेना कठिन था लेकिन दुर्भाग्य से मैं इस साल यूरोप में प्रतिस्पर्धा नहीं करूंगी। पिछले साल का फ्रेंच ओपन मेरे करियर का सबसे खास टूर्नामेंट था इसलिए यह कोई ऐसा-वैसा फैसला नहीं था, जिसे मैंने इतने हल्के में लिया है।'
उन्होंने आगे लिखा, 'मेरे फैसले के दो कारण हैं। पहला स्वास्थ्य जोखिम है, जो अभी भी कोरोना के साथ मौजूद है और दूसरी मेरी तैयारी है, जो बगैर कोच के ट्रेनिंग बिना अच्छी नहीं है। इसकी वजह है ऑस्ट्रेलिया में राज्य की सीमा बंद होना।'

बार्टी ने कहा, 'मैं खिलाड़ियों और फ्रेंच फेडरेशन को सफल टूर्नामेंट के लिए शुभकामनाएं देती हूं। मैं अब ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टूर्नामेटं के लिए तत्पर हूं। यह सभी के लिए एक चुनौतीपूर्ण साल रहा है और हालांकि मैं एक टेनिस खिलाड़ी होने के नाते निराश जरूर हूं, लेकिन मेरा परिवार और मेरी टीम का स्वास्थ्य और कल्याण हमेशा मेरी प्राथमिकता होगी। मैं अपने प्रशंसकों को धन्यवाद देना चाहती हूं, जिन्होंने हमेशा मेरा साथ दिया।'

फ्रेंच ओपन की शुरुआत 27 सितंबर से होगी
बता दें कि फ्रांस में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बावजूद इस महीने फ्रेंच ओपन की शुरुआत 27 सितंबर से होगी। फ्रेंच ओपन में दर्शकों को प्रवेश की अनुमति रहेगी। दरअसल, यह टूर्नामेंट मई के महीने में खेला जाता है लेकिन कोरोना महामारी के कारण इसे स्थगित कर दिया गया था। हालांकि, कोरोना का प्रकोप अभी भी थमा नहीं है। यही वजह है कि खिलाड़ी टूर्नामेंट से अपना नाम वापस ले रहे हैं। इससे पहले भी कई शीर्ष खिलाड़ी कोरोना के डर से यूएस ओपन से अपना नाम वापस ले लिए थे। बता दें कि फ्रांस में कोरोना वायरस के कारण 30 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। 
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Sports news in Hindi related to live update of Sports News, live scores and more cricket news etc. Stay updated with us for all breaking news from Sports and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us