विज्ञापन
विज्ञापन

शतरंज के बादशाह विश्वनाथन आनंद को जन्मदिन पर बधाई दें

नई दिल्ली/इंटरनेट डेस्क Updated Tue, 11 Dec 2012 10:03 AM IST
wish chess great viswanathan anand on his birthday
ख़बर सुनें
विश्वनाथ आनंद, शतरंज की दुनिया का ऐसा नाम जिसे दुनिया सलाम करती है। इस खिलाड़ी की उपलब्धियों पर हर भारतीय गौरवान्वित महसूस करता है। समूची दुनिया में भारत का नाम रोशन करने वाले शतरंज के इस महान खिलाड़ी का आज (11 दिसंबर) जन्मदिन है।
विज्ञापन
विश्वनाथन आनंद अपने प्रशंसकों में 'मद्रास टाइगर' और 'विशी' नाम से बेहद लोकप्रिय हैं। पांच बार के वर्ल्ड चैंपियन (2000, 2007, 2008, 2010, 2012) विश्वनाथन आनंद का जन्म 11 दिसंबर, 1969 को तमिलनाडु के छोटे से शहर मयिलाडुथराई में हुआ था। बाद में आनंद का परिवार चेन्नई शिफ्ट हो गया। उनके पिता विश्वनाथ दक्षिण रेलवे में रिटायर्ड जनरल मैनेजर हैं।

आनंद का कहना है, 'छह साल की उम्र में मैंने पहली बार शतरंज खेलना शुरू किया। मेरी मां ने मुझे शतरंज की बुनियादी बातें सिखाई। उसी दौरान थोड़े समय के लिए हमलोग फिलीपींस गए थे। वहां टीवी पर पहेली (पजल) का रोचक कार्यक्रम आता था। जब मैं स्कूल चला जाता तो मेरी मां पहेली नोट कर लेती थी, बाद में हम दोनों मिलकर उसे सुलझाते। पहेली सुलझाने में मुझे बेहद मजा आता था। मैं और मेरी मां ने मिलकर कई पुरस्कार भी जीते'।

आनंद ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा चेन्नई स्थित इग्मोर के डॉन बॉस्को मैट्रिकुलेशन हाइयर सेकंडरी स्कूल से पूरी की। बाद में चेन्नई के लोयला कॉलेज से कॉमर्स में बैचलर डिग्री ली। आनंद को पढ़ना, तैरना और गाना सुनना बेहद पसंद है। 9 अप्रैल, 2011 को आनंद ने अरूणा आनंद से शादी की।

गैरी कास्पारोप, व्लादीमीर क्रामनिक, मैग्नस कार्ल्सन जैसे खिलाड़ियों से आनंद का मैच बेहद ही रोमांचक और रोचक रहा है। कई बार आनंद उन्हें हराने में कामयाब रहे तो कई बार उन्हें हार का स्वाद चखना पड़ा। आनंद पहले भारतीय खिलाड़ी हैं जिन्हें 7 नवंबर, 2010 को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के लंच पर न्योता मिला था।

पहली बार ग्रैंडमास्टर
विश्वनाथन आनंद में शतरंज की प्रतिभा कूट-कूट कर भरी थी। आनंद ने 6 साल की आयु से शतरंज खेलना शुरू किया। शतरंज की चालों को तेजी से समझने में माहिर आनंद ने 1983 में नेशनल सब-जूनियर चेस चैंपियनशिप का खिताब जीता। इसके बाद वर्ल्ड जूनियर चैंपियनशिप और 1987 में ग्रैंडमास्टर खिताब जीतकर अपना लोहा मनवाया।

वर्ल्ड चैंपियन बनने का सफरनामा
--विश्वनाथन आनंद ने 2000 में तेहरान में एलेक्सेई शिरोव को हराकर पहली बार एफआईडीई वर्ल्ड चैंपियनशिप का खिताब जीता।
--2007 में आनंद ने अगला विश्व चैंपियनशिप खिताब रूस के व्लादिमीर क्रैमनिक को पटखनी देकर अपने नाम किया। इस खिताब जीतने के लिए उनका सामना दुनिया के आठ सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों से हुआ था।
--2008 में एक बार फिर आनंद का सामना रूसी खिलाड़ी व्लादिमीर क्रैमनिक से हुआ। उस समय आनंद को क्रैमनिक के सामने खिताब का प्रबल दावेदार नहीं माना जा रहा था। लेकिन आनंद ने सभी को चौंकाते हुए इस बार भी खिताब अपने नाम किया।
--आनंद चौथी बार चैंपियन तब बने जब उन्होंने 2010 में बल्गारिया के वेसेलीन टोपालोव को शिकस्त दी।
--2012 में इजरायल के बोरिस गेलफेंड को हराकर आनंद वर्ल्ड चैंपियन बने।

कई और पुरस्कारों से नवाजे गए
--1985 में अर्जुन अवॉर्ड।
--1987 में पद्मश्री पुरस्कार।
--1991-92 में राजीव गांधी खेल रत्न अवॉर्ड।
--2000 में पद्म भूषण अवॉर्ड।
--2007 में पद्म विभूषण अवॉर्ड।
--1987 में सोवियत लैंड नेहरू अवार्ड और नेशनल सिटीजंस अवॉर्ड।
--1998 में आनंद की पुस्तक 'माई बेस्ट गेम्स ऑफ चेस' के लिए ब्रिटिश चेस फेडरेशन का 'बुक ऑफ द ईयर अवार्ड'।
--1997, 1998, 2003, 2004, 2007, 2008 में चेस ऑस्कर अर्वार्ड।
विज्ञापन

Recommended

फैशन इंडस्ट्री दे रही है खास मौके, इन्वर्टिस संग करें खुद को तैयार
Invertis university

फैशन इंडस्ट्री दे रही है खास मौके, इन्वर्टिस संग करें खुद को तैयार

अपनी संतान की लंबी आयु के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में संतान गोपाल पाठ और हवन करवाएं - 24 अगस्त 2019
Astrology Services

अपनी संतान की लंबी आयु के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में संतान गोपाल पाठ और हवन करवाएं - 24 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Sports news in Hindi related to live update of Sports News, live scores and more cricket news etc. Stay updated with us for all breaking news from Sports and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Hockey

भारतीय महिला हॉकी टीम ने जापान को हराकर ओलंपिक टेस्ट इवेंट का किया शानदार आगाज

भारतीय महिला हॉकी टीम ने शनिवार को ओलंपिक टेस्ट इवेंट का शानदार आगाज करते हुए पहले मैच में मेजबान जापान को शिकस्त दी।

17 अगस्त 2019

विज्ञापन

दूरदर्शन की वरिष्ठ पत्रकार और एंकर नीलम शर्मा का निधन, कैंसर से थीं पीड़ित

दूरदर्शन की वरिष्ठ एंकर नीलम शर्मा का निधन हो गया। दूरदर्शन के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर इसकी जानकारी दी गई। जानकारी के मुताबिक वो कैंसर से पीड़ित थीं।

17 अगस्त 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree