लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi Web Series Season 2: मिर्जापुर से सेक्रेड गेम्स तक सबसे चर्चित वेब सीरीज, जिनका दूसरा सीजन निराश करता है

एंटरटेनमेंट डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: निधि पाल Updated Thu, 24 Feb 2022 05:24 PM IST
वेब सीरीज
1 of 6
विज्ञापन
कोरोना वायरस के कारण लगे लॉकडाउन से लेकर अभी तक  ओटीटी प्लेटफार्म हर किसी की खास जरुरत बन चुका है। ओटीटी पर रिलीज होने वाली फिल्म, वेव सीरीज, रियलिटी शो, रोमांस, थ्रिलर हर कंटेट को देखना दर्शक पसंद करने लगे हैं। आज हम आपको उन वेब सीरीज के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनका पहली सीजन तो जबरदस्त हिट रहा, जबकि इनके दूसरे सीजन से दर्शक निराश हुए हैं। एक नजर हिंदी की उन वेब सीरीज पर जिनके दूसरे सीजन में बड़ी गिरावट आई...

 
मिर्जापुर।
2 of 6
मिर्जापुर
मिर्जापुर के पहले सीजन में कहानी के अंत में कई परिवार उजड़ चुके थे, लेकिन सबसे ज्यादा दुखी गुड्डू पंडित था। इस सीरीज के अंत में मुन्ना भइया ने गुड्डू कीी बीवी, बच्चे और उसके भाई का मर्डर कर दिया था। पहला सीजन खत्म होने के बाद दर्शक दूसरे सीजन के लिए बहुत उत्साहित थे। लेकिन पहले सीजन की तुलना में मिर्जापुर 2 का क्लाइमैस हल्का रहा। सीजन 2 में गाली गलौज, न्यूडिटी और वॉयलेंस पहले से कहीं ज्यादा दिखाया गया है। 
विज्ञापन
क्रिमिनल जस्टिस-बिहाइंड क्लोज्ड डोर्स
3 of 6
क्रिमिनल जस्टिस
पंकज त्रिपाठी की वेब सीरीज क्रिमिनल जस्टिस घरेलू हिंसा पर आधारित है। इस सीरीज के माध्यम से लगभग हर घर में मौजूद ऐसे अंधेरे पर रोशनी डालने का काम किया गया है, जिसपर समाज की नजर कम ही जाती है। इसमें अनु चंद्रा नाम की महिला की कहानी दिखाई गई है, जो अपने पति द्वारा फिजिकली, मेटली और सेक्शुअली प्रताड़ित की जाती है। एक दिन वह इन सबसे परेशान होकर अपने पति को मार देती है। इस सीरीज का पहला सीजन तो शानदार है, लेकिन इसका दूसरा सीजन दर्शकों का मनोरंजन करने में उतना सामर्थ्य नहीं रखता। 
द फैमिली मैन 2
4 of 6
द फैमिली मैन 2
मनोज वाजपेयी और सामंथा की वेब सीरीज द फैमिली मैन 2 धीमी रफ्तार से बढ़ती है। सीजन टू में पुराना थ्रिलर गायब है। इसमें सामंथा का अभिनय सधा हुआ है। लेकिन बदले की आग में जलती हुई एक युवती का किरदार दर्शकों को कम पसंद आया है। 
विज्ञापन
विज्ञापन
‘गुल्लक
5 of 6
गुल्लक 2
गुल्लक के पहले सीजन में जितना ठहराहव था, दूसरे सीजन में वह दिखाई नहीं देता है। न तो दूसरे सीजन की कहानी में दम है और न ही इसके डायलॉग में। इस तरह की सीरीज दर्शक ज्यादातर परिवार के  साथ देखना पसंद है, ऐसे में अगर इसके डायलॉग थोड़े और अच्छे होते तो काम बन सकता था। 
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00