Hindi News ›   Crime ›   supreme court gives orders to shift Shahabuddin from siwan jail to tihar

बिहार की सिवान जेल से अब तिहाड़ जेल भेजे जाएंगे शहाबुद्दीन

टीम डिजिटल/ अमर उजाला, दिल्ली Updated Wed, 15 Feb 2017 12:20 PM IST
supreme court gives orders to shift Shahabuddin from siwan jail to tihar
विज्ञापन
ख़बर सुनें

बिहार के बाहुबली नेता मोहम्मद शहाबुद्दीन को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व सांसद शहाबुद्दीन को बिहार के सिवान जेल से दिल्ली की तिहाड़ जेल में शिफ्ट करने पर मुहर लगा दी।  सुप्रीम कोर्ट ने राइट टू फेयर ट्रायल के तहत ये आदेश दिए हैं। मीडिया की खबरों के मुताबिक शहाबुद्दीन को एक हफ्ते के अंदर दिल्ली लाया जाएगा।

विज्ञापन


हालांकि, शहाबुद्दीन की ओर से कहा गया कि अगर उन्हें शिफ्ट किया जाता है तो इससे उनके मानवाधिकारों का उल्लंघन होगा। बता दें कि याचिका चंद्रशेखर और आशा रंजन की ओर से शहाबुद्दीन को दूसरे राज्य की जेल में शिफ्ट करने की याचिका दायर की गई थी।


इनके मुताबिक शहाबुद्दीन से लोगों को खतरा है इसलिए उन्हें जल्द से जल्द शिफ्ट किया जाए। दरअसल, चंद्रकेश्वर प्रसाद की तीन बेटों की हत्या हुई थी जिनका आरोप शहाबुद्दी पर लगा हुआ है। साथ ही आशा रंजन के पति राजदेव रंजन की हत्या में भी शहाबुद्दीन के शामिल होने का आरोप है। 
 

आम कैैदियों की तरह ही रखा जाए शहाबुद्दीन को

शहाबुद्दीन का होगा एम्स में इलाज
शहाबुद्दीन का होगा एम्स में इलाज - फोटो : Getty
शहाबुद्दीन के मामले में सख्ती बरतते हुए कोर्ट ने और भी कई निर्देश दिए हैं। कोर्ट ने कहा कि मामले की सुनवाई तिहाड़ से ही होगी। इसके लिए शहाबुद्दीन को बिहार लाने की कोई जरूरत नहीं है, बल्कि वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए ही आगे की कार्रवाई की जाए।
 


इतना ही नहीं कोर्ट ने कहा कि शहाबुद्दीन को तिहाड़ में किसी भी तरह की स्पेशल सुविधा नहीं दी जाए। उन्हें आम कैदियों की तरह ही रखा जाए।
 

हत्या, रंगदारी, किडनैपिंग के लिए कुख्यात रहे शहाबुद्दीन

शहाबुद्दीन
शहाबुद्दीन - फोटो : ANI
बता दें कि शहाबुद्दीन हत्या, रंगदारी, किडनैपिंग और तेजाब कांड के लिए कुख्यात रहे। उन्हें पटना हाईकोर्ट के आदेश के बाद जमानत मिली थी। 16 अगस्त 2004 को सीवान के गोशाला रोड में रहने वाले कारोबारी चंद्रकेश्वर प्रसाद के दो बेटों सतीश और गिरीश का अपहरण हुआ था। चंद्र बाबू की पत्नी कलावती देवी के बयान के बाद जांच में शहाबुद्दीन का नाम सामने आया।

इसके बाद किडनैप हुए सतीश और गिरीश के बड़े भाई राजीव रोशन ने अपनी गवाही में खुलासा किया था कि शहाबुद्दीन की मौजूदगी में उसके दोनों भाइयों को तेजाब में डूबोकर मार डाला गया था।

शहाबुद्दीन नवंबर 2005 से जेल में बंद थे। हाईकोर्ट के आदेश पर शहाबुद्दीन के खिलाफ मामले की सुनवाई शुरू हुई। इसी बीच, 16 जून 2014 को अहम गवाह राजीव की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इसमें शहाबुद्दीन और उनके बेटे ओसामा आरोपी हैं।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00