Hindi News ›   Crime ›   Hindu couple adopts Islam religion in Siddharthnagar

धर्म परिवर्तन करने पर मिली जान से मारने की धमकी

amarujala.com, Presented by: शारुख खान Updated Mon, 18 Sep 2017 07:22 PM IST
फाइल
फाइल - फोटो : सांकेतिक चित्र
विज्ञापन
ख़बर सुनें
एक दंपति ने धर्म परिवर्तन कर इस्लाम धर्म अपना लिया। इसके बाद उन्हें जान से मारने की धमकी मिलने लगी है। पीड़ित दंपति ने जान को खतरा बताते हुए अपना घर छोड़ दिया है और दूसरी जगह शरण ली है। मानवाधिकार आयोग, डीजीपी से सुरक्षा की गुहार लगाई है। 
विज्ञापन


घटना उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर की है। नेपाल सीमा पर स्थित अलीगढ़वा कस्बे के एक दंपती ने हिंदू धर्म छोड़कर इस्लाम कबूल कर लिया है। स्वेच्छा से करीब दो माह पहले इस्लाम कबूलने वाले इस दंपति ने असामाजिक तत्वों से अपनी जान का खतरा बताया है। भयभीत दंपति ने अपना घर छोड़कर दूसरे के यहां शरण ले रखी है। 


पढ़ें:- चार परिवारों ने किया धर्म परिवर्तन, अपनाया ये धर्म, इलाके में तनाव

मानवाधिकार आयोग और डीजीपी तक पत्र पहुंचने के बाद पुलिस हरकत में आ गई है। आनन-फानन में इसकी जांच शुरू कर दी गई है। पुलिस का कहना है कि मामला गंभीर है। हर पहलू पर छानबीन के बाद कार्रवाई की जाएगी। 

अलीगढ़वा निवासी रामधनी उर्फ अब्दुल रहमान सीमांत किसान हैं। मानवाधिकार आयोग को भेजे पत्र में रामधनी ने कहा है कि दो माह पूर्व इस्लाम से प्रेरित होकर उन्होंने पत्नी गुड़िया उर्फ आयशा समेत स्वेच्छा से इस्लाम कबूल किया है। किसी ने उनसे जोर-जबरदस्ती नहीं की। 
 

फाइल
फाइल - फोटो : सांकेतिक चित्र
मगर इसके बाद से ही कुछ लोग उसे लगातार डरा-धमका रहे हैं और आरोप लगा रहे हैं कि लालच में आकर धर्म परिवर्तन किया है। असामाजिक तत्वों की धमकियों के कारण वह घर भी नहीं जा पा रहे। उन्हें यहां-वहां छिपकर जिंदगी गुजारनी पड़ रही है। 

पढ़ें:- बेटी ने कहा... प्रेमी से शादी नहीं कराई तो कर लूंगी धर्म परिवर्तन

पत्र में उन्होंने किसी भी तरह जान-माल के नुकसान पर असामाजिक तत्वों को जिम्मेदार बताया है। राष्ट्रीय व राज्य मानवाधिकार आयोग के अलावा, डीजीपी, आईजी को भी पत्र भेजा है। उच्चाधिकारियों के निर्देश के बाद स्थानीय पुलिस हरकत में आई है। जांच कर शीघ्र कार्रवाई करने को कहा गया है। 

इस संबंध में सीओ सदर दिलीप कुमार सिंह से संपर्क किया गया तो उन्होंने मामले से अनभिज्ञता जताई, हालांकि सीओ ने कपिलवस्तु पुलिस को मामले की जांच सौंप दिया है और पत्र पर उनके हस्ताक्षर भी थे। उधर, कपिलवस्तु कोतवाली प्रभारी गोपाल स्वरूप वाजपेयी ने पत्र मिलने की पुष्टि करते हुए कहा कि मामला गंभीर है। हर पहलू पर छानबीन के बाद नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00