विज्ञापन

मिट्टी के रंगों' से नारी सशक्तीकरण: 'मां की मुश्किलों को देखकर मिली प्रेरणा'

अमित जैन Updated Sun, 09 Sep 2018 11:22 PM IST
amit jain
amit jain
विज्ञापन
ख़बर सुनें
मैं मूलतः महाराष्ट्र के भुसावल से हूं। मैं तीन साल का था, जब मेरे सिर से पिता का साया उठ गया था। मेरी बचपन की यादें बेहद नाजुक हैं। घर चलाने के लिए मेरी मां ने सिलाई की एक छोटी-सी दुकान खोल ली थी। हमारा परिवार कई तरह के पुराने कर्ज में भी दबा था। मेरी पढ़ाई और दूसरी जरूरतों का खर्च चाचा उठाते थे। वैसे तो घर में अमानत के तौर पर कुछ नहीं था, पर जो कुछ भी थोड़ा मूल्यवान था, मां उसे छिपाकर रखती थी कि कहीं कर्ज देने वाले हमसे छीन न ले जाएं।
विज्ञापन
मैंने हमेशा यही देखा कि विधवा होने की वजह से मां को सभी धार्मिक या सामाजिक कार्यक्रम से अलग-थलग रखा जाता था। यहां तक कि मेरे भाई की शादी में उन्हें मेहंदी लगाने की भी अनुमति नहीं मिली। मैंने कई बार उनका पक्ष लिया, लेकिन हर बार ताकतवर समाज के आगे खुद को बेबस पाया। भले ही मां ने अपने दर्द को कभी चेहरे की शिकन नहीं बनने दिया। मगर मैं उनके भीतर की पीड़ा बखूबी समझता था। मैंने तय किया कि मैं अपने बूते उन्हें एक बेहतर जिंदगी मुहैया कराऊंगा। मुझे पढ़ाने के लिए उन्होंने न जाने कितने समझौते किए थे! स्नातक करने के बाद मुझे नौकरी मिल गई और मैं पुणे में रहने लगा। 

मैंने मां को अपने पास रहने के लिए बुला लिया। हमारी जिंदगी धीरे-धीरे ही सही, पर बेहतर होने लगी। मेरी काबिलियत को परखते हुए मां ने एक रोज मुझसे दूसरों के लिए, खासकर विधवा महिलाओं के लिए कुछ करने की सलाह दी। मेरे पास मां की सलाह न मानने की कोई वजह नहीं थी, पर दिक्कत यह थी कि मुझे समाज सेवा का बिल्कुल भी अनुभव नहीं था। मैंने अध्ययन किया, तो पता चला कि देश में चार करोड़ से ज्यादा विधवाएं सामाजिक अलगाव का सामना कर रही हैं।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Lucknow

लॉ स्टूडेंट्स ने खोला लीगल क्लीनिक, इसके जरिए इन महिलाओं को न्याय दिलाने का उठाया बीड़ा

लखनऊ के सिटी लॉ कॉलेज के आठ विधि के छात्रों ने मिलकर सिटी लीगल क्लीनिक संस्था का गठन किया है। जिसके जरिए कानून की जानकारियों से असहाय लोगों की मदद कर रहे हैं।

21 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

FB LIVE : एशिया कप में भारत-बांग्लादेश के बीच महाटक्कर, कौन किस पर भारी?

टीम इंडिया शुक्रवार को सुपर चार के अपने पहले मुकाबले में उलटफेर में माहिर बांग्लादेश के खिलाफ उतरेगी। देखिए इसी पर अमर उजाला डॉट कॉम पर FB LIVE

21 सितंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree