निजी महाविद्यालयों की छात्राएं भी पाएंगी योजना का लाभ

भोपाल/इंटरनेट डेस्क Updated Tue, 16 Oct 2012 06:14 PM IST
private colleges students will get the benefit of the scheme
मध्यप्रदेश में निजी महाविद्यालयों की छात्राएं भी अब गांव की बेटी योजना का लभा उठा सकेंगी। गांव की बेटी योजना का लाभ अब सभी अशासकीय मान्यता प्राप्त महाविद्यालयों तथा विश्वविद्यालयों में पढ़ने वाली छात्राओं को भी मिलेगा। पहले इस योजना का लाभ केवल शासकीय महाविद्यालयों में पढ़ने वाली छात्राओं को ही मिलता था। गांव की बेटी योजना वर्ष 2005 में शुरू की गयी थी। इस योजना के तहत 12वीं कक्षा प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण करने वाली ग्रामीण क्षेत्र की छात्राओं को लाभ मिलता है।

योजना में छात्राओं को आर्थिक तौर पर मदद करने के ल‌िए छात्रवृत्त‌ि दी जाती है। इनमें परम्परागत विषयों में पढ़ने वाली छात्राओं को 500 रुपये और इंजीनियरिंग तथा चिकित्सा की शिक्षा प्राप्त कर रही छात्राओं को 750 रुपये प्रतिमाह छात्रवृत्ति दी जाती है। वर्ष 2009-10 में 28 हजार 141, वर्ष 2010-11 में 32 हजार 226 और वर्ष 2011-12 में 27 हजार 786 छात्राओं को इस योजना से लाभान्वित किया गया। योजना से लाभ प्राप्‍त करने वाली छात्राओं में 47.49% अन्य पिछड़ा वर्ग, 35.24% सामान्य वर्ग, 9.78% अनुसूचित-जाति और 7.49% अनुसूचित जनजाति वर्ग की हैं।

Spotlight

Most Read

National

पुरुष के वेश में करती थी लूटपाट, गिरफ्तारी के बाद सुलझे नौ मामले

महिला लड़कों के ड्रेस में लूटपाट को अंजाम देती थी। अपने चेहरे को ढंकने के लिए वह मुंह पर कपड़ा बांधती थी और फिर गॉगल्स लगा लेती थी।

20 जनवरी 2018

Related Videos

शिवराज सिंह चौहान को नहीं समझ आ रहा ‘पद्मावत’ पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला?

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विवादास्पद फिल्म 'पद्मावत' को राज्य में रिलीज होने देने का संकेत दिया है।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper