जब मुझे मालूम चला कि नपुंसक से मेरी शादी हुई है

लाइफस्टाइल डेस्क, अमर उजाला Updated Mon, 26 Feb 2018 11:06 AM IST
When i get to know that i was married to a impotent man
ख़बर सुनें

करीबी मित्रों से हुई बातचीत और देखे गए कई पॉर्न वीडियो से मेरे दिमाग़ में सपनों और इच्छाओं की कई तस्वीरें उभर रही थीं। सिर झुकाए, हाथ में दूध का गिलास लिए मैं बेडरूम में घुसी। अब तक सब कुछ वैसे ही था जैसा मैंने सोचा था। लेकिन मुझे बिल्कुल भी आभास नहीं था कि एक मुझे कुछ ही देर में ज़ोरदार झटका लगने वाला है। सपनों के मुताबिक जब मैं कमरे में आती हूं तो मेरा पति मुझे कसकर गले लगाता है, चुंबनों की बौछार कर देता है और सारी रात मुझे प्यार करता रहता है। लेकिन वास्तविकता में, जब मैं कमरे में घुसी उससे पहले ही वो सो चुका था। तब 35 की उम्र में मैं वर्जिन थी। मेरे लिए ये बेहद तकलीफ़ भरा था, ऐसा लगा कि मेरे पूरे अस्तित्व को मेरे पति ने नकार दिया हो।कॉलेज के दिनों में ही नहीं ऑफ़िस में भी मैंने कई लड़कों और लड़कियों के बीच गहरी दोस्ती देखी थी। वो अपने पार्टनर के कंधों पर अपना सिर टिकाए होते, हाथ पकड़े घूमा करते थे। तब मैं सोचती थी कि काश मेरे साथ भी कोई होता, मुझे अपनी ज़िंदगी में ऐसे ही किसी साथी की तमन्ना नहीं करनी चाहिए थी? मेरा एक बड़ा परिवार था। चार भाई, एक बहन और वृद्ध माता-पिता। इसके बावजूद मुझे हमेशा अकेलापन महसूस होता था।

आगे पढ़ें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all update about cricket news, Entertainment news, bollywood news, fitness news in hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

Spotlight

Most Read

Relationship

Father's Day 2018: 13 ऐसे बाप, जिन्होंने बच्चों को दी ऐसी सीख, उन्होंने पा लिया एक मुकाम

फादर्स डे के मौके पर हम आपको सुना रहे हैं, उन पिताओं की कहानियां, जिन्होंने अपने बच्चों को ऐसी सीख दी कि उन्होंने सफलता का शिखर छू लिया।

17 जून 2018

Related Videos

जम्मू-कश्मीर में पत्थरबाजी का यूपी कनेक्शन निकला ‘झूठा’, बयान से पलटा नसीम

पश्चिमी यूपी के लड़कों को नौकरी का लालच देकर जम्मू-कश्मीर में पत्थरबाजी करवाए जाने के अपने बयान से पलटते हुए बागपत के नसीम ने कहा कि पुलवामा में फैक्ट्री मालिक से विवाद के बाद उसको फंसाने के लिए उसने ये अफवाह फैलाई।

22 जून 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen