विधानसभा अध्यक्ष के गांव का किसान जीते जी तरसता रहा, मरने के बाद प्रशासन ने 200 किलो चावल पहुंचाया

टीम डिजिटल, अमर उजाला Updated Thu, 07 Dec 2017 06:44 PM IST
farmer from village of jharkhand Speaker commits suicide administration provided 200 kg rice
किसान बुद्दु उरावं के शव के साथ परिजन
झारखंड विधानसभा के अध्यक्ष दिनेश उरांव के गांव के एक किसान ने सरकारी उदासीनता से दुखी होकर खुदकुशी कर ली। बुद्दु उरांव अपने खेत में करीब 200 मन धान जल जाने से हताश था। उसके जीते जी प्रशासन उसकी कोई मदद नहीं कर पाया, हालांकि उसके मर जाने के बाद प्रशासन ने 200 किलो चावल उसके घर पहुंचाया। 

ये घटना हुई है झारखंड में गुमला जिले के सिसई थाना स्थित मुरगू नकटीटोली कामता गांव की है। खबरों के मुताबिक 55 साल के बुद्दु उरांव के खलिहाल में चार दिसंबर को आग लग गई और आग में करीब 280 मन धान जल गया था। इस धान की कीमत करीब दो लाख रुपये थी। काफी मशक्कत के बाद पैसे जमाकर उसने खेती में पैसे लगाए थे। खून पसीने की मेहनत जलकर खाक हो जाने से बुद्दु हताश हो गया था। 

बुद्दु उरांव के सामने पैसों की तंगी पैदा हो गई थी। उसने सरकार से मुआवजे की मांग की थी, लेकिन प्रशासन ने उसकी मांग को गंभीरता से नहीं लिया। परिवार चलाने की चिंता ने उसे इतना परेशान कर दिया कि उसने कुएं में कूदकर अपनी जान ली।  

बुद्दु किसान की खुदकुशी के बाद अनेक सियासी दलों के नेता उसके गांव पहुंचने लगे। नेता ने किसान की मौत पर चिंता प्रकट कर रस्म अदायगी भी की। विधानसभा स्पीकर दिनेश उरांव भी गांव पहुंचकर पीड़ित परिवार से मिले और 10 हजार रुपए की सहायता राशि दी। 

स्पीकर दिनेश उराव ने कहा कि, 'धान जलना एक दुर्घटना है। झारखंड विधानसभा के आगामी सत्र में धान जलने की दुर्घटना का मुद्दा उठाऊंगा, जिससे आपदा के तहत पीड़ित को मुआवजा मिल सके।'

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

16 जनवरी 2018

Related Videos

ओडिशा के इस ‘दशरथ मांझी’ ने बच्चों के लिए बनाई 8 किमी. लंबी सड़क

ओडिशा के कंधमाल में रहनेवाले जालंधर नायक ने अपने बच्चों के लिए अकेले ही आठ किलोमीटर लंबी सड़क तैयार कर दी। जालंधर के बच्चे इलाके में सड़क न होने की वजह से जंगल के रास्ते स्कूल नहीं जा पाते थे।

15 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper