Hindi News ›   India News ›   Odisha: BJD party told BJP leaders, take care of your language and cross the boundaries while speaking against Chief Minister Naveen Patnaik

ओडिशा : बीजद ने भाजपा नेताओं से कहा- अपनी भाषा का ध्यान रखें और मुख्यमंत्री पटनायक के खिलाफ बोलते समय सीमा न लांघें

पीटीआई, भुवनेश्वर Published by: Kuldeep Singh Updated Tue, 07 Dec 2021 03:36 AM IST

सार

बीजद पार्टी ने यह कड़ी प्रतिक्रिया सोमवार को तब की जब भाजपा विधायकों ने कालाहांडी महिला शिक्षक के अपहरण और हत्या से संबंधित मुद्दों पर पटनायक को एक पत्र पोस्ट किया। मुख्यमंत्री को लिखे खुले पत्र में भाजपा पार्टी के सांसदों ने पटनायक पर कालाहांडी मामले में दोहरा मापदंड बनाए रखने का आरोप लगाया।
 
मुख्यमंत्री नवीन पटनायक
मुख्यमंत्री नवीन पटनायक - फोटो : Facebook
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजद) ने सोमवार को भाजपा सांसदों से कहा कि वे अपनी भाषा का ध्यान रखें और मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के खिलाफ शब्दों का इस्तेमाल करते समय सीमा नहीं लांघें।

विज्ञापन


बीजद की यह कड़ी प्रतिक्रिया तब की जब भाजपा विधायकों ने कालाहांडी महिला शिक्षक के अपहरण और हत्या से संबंधित मुद्दों पर पटनायक को एक पत्र पोस्ट किया। मुख्यमंत्री को लिखे खुले पत्र में भाजपा पार्टी के सांसदों ने पटनायक पर कालाहांडी मामले में दोहरा मापदंड बनाए रखने का आरोप लगाया।


पत्र में भाजपा ने लिखा है, आपने (सीएम) 1999 में सामूहिक दुष्कर्म की घटना के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री जे बी पटनायक को नैतिकता का पाठ पढ़ाया था। आपने अतीत में भी नैतिकता के नाम पर मंत्रियों और नेताओं को बर्खास्त किया है। कालाहांडी मामले में आपकी नैतिकता कहां है।

इसके अलावा भाजपा विधायकों ने भी पटनायक की कड़ी निंदा की कि उन्होंने कोविड-19 महामारी के प्रकोप के बाद से एक बार भी विधानसभा में भाग नहीं लिया, जबकि उन्होंने विभिन्न जिलों का दौरा किया था। भाजपा के पत्र में पूछा गया, विधानसभा में आने के बजाय आप कहां छिपे हैं।

पटनायक के खिलाफ भाजपा के शब्दों और कार्यों पर कड़ी आपत्ति जताते हुए पार्टी सांसदों प्रमिला मलिक और अतनु एस नायक ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि भगवा पार्टी का व्यवहार उड़िया संस्कृति के खिलाफ है। सरकार की वरिष्ठ बीजद नेता प्रमिला मलिक ने कहा, आपको (भाजपा) मुख्यमंत्री के खिलाफ इस तरह की भाषा का इस्तेमाल करने के लिए भारी कीमत चुकानी होगी। हम इसकी निंदा करते हैं।

यह कहते हुए कि राजनीति में यह कोई नई बात नहीं है कि विपक्षी दल सत्ताधारी दल की आलोचना करते हैं और यहां तक कि सरकार के खिलाफ भी विरोध करते हैं। मलिक ने कहा, विपक्ष ने पहले कभी भी लोकतांत्रिक मूल्यों और पदों की गरिमा का त्याग नहीं किया। सरकार का विरोध करने के लिए भाजपा बहुत नीचे चली गई है।

नेता मल्लिक ने एक उदाहरण का हवाला देते हुए कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने बीजेपुर में उपचुनाव के प्रचार के दौरान मुख्यमंत्री को निशाना बनाते हुए बोतलें और चप्पलें फेंकी थीं। उन्होंने कहा, इसी तरह,भाजपा कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री के काफिले पर अंडे से हमला किया। मुख्यमंत्री को भाजपा का पत्र भगवा पार्टी के विधायकों को संस्कृति की कमी दिखाता है।

बीजद नेता ने कहा कि ओडिशा के लोग जिन्होंने नवीन पटनायक को लगातार पांच बार सत्ता में वोट दिया है, वे मुख्यमंत्री के प्रति अपने व्यवहार के लिए भाजपा को कभी माफ नहीं करेंगे। कालाहांडी महिला शिक्षिका अपहरण और हत्या मामले के मुख्य आरोपी को पनाह देने का आरोप लगाते हुए विपक्षी भाजपा और कांग्रेस गृह राज्य मंत्री डीएस मिश्रा को हटाने की मांग कर रही है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00