लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Law Ministry approves end of child and gender gap in Pocso Act

पॉक्सो एक्ट में बालक और बालिका का अंतर खत्म, 12 साल से छोटे लड़के से कुकर्म पर भी होगी फांसी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Thu, 19 Jul 2018 03:39 AM IST
Law Ministry approves end of child and gender gap in Pocso Act
ख़बर सुनें

देश में छोटी बच्चियों के साथ बढ़ते दुष्कर्म व यौन शोषण के मामलों में मौत की सजा को केंद्रीय कैबिनेट पहले ही हरी झंडी दिखा चुका है। अब 12 साल से कम उम्र के लड़कों के साथ भी कुकर्म या यौन उत्पीड़न करने वालों को फांसी की सजा मिलेगी।



महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के प्रस्ताव पर कानून मंत्रालय ने पॉक्सो एक्ट में बालक व बालिका के बीच अंतर खत्म करने को मंजूरी दे दी है। कैबिनेट से मंजूरी के बाद बुधवार से शुरू हुए मानसून सत्र में ही पॉक्सो एक्ट में इस संशोधन के लिए बिल पेश किया जाएगा। 


छोटी बच्चियों के साथ हो रहे अपराधों की रोकथाम के लिए प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंसेस एक्ट को पहले ही कैबिनेट अध्यादेश के जरिए संशोधित कर चुकी है। बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली केंद्रीय कैबिनेट ने इस अध्यादेश की जगह लेने वाले कानून को मंजूरी के लिए संसद में पेश करने को हरी झंडी दे दी।

कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने बताया कि अब क्रिमिनल लॉ (संशोधन) बिल-2018 को मानसून सत्र में पेश किया जाएगा। इस बिल से 12 साल से कम उम्र की बच्चियों से दुष्कर्म पर फांसी के साथ ही इससे बड़ी उम्र की किशोरियों व महिलाओं से दुष्कर्म पर भी सजा में भी बढ़ोतरी की गई है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00