कौन थे 'दमादम मस्त कलंदर' वाले बाबा लाल शाहबाज

टीम डिजिटल/अमर उजाला Updated Fri, 17 Feb 2017 10:54 AM IST
know everything about Baba Lal Shahbaz Qalandar
बाबा लाल शाहबाज़ कलंदर की दरगाह - फोटो : Getty Images
पाकिस्तान में चरमपंथियों ने इस बार बम धमाके के लिए जिस ठिकाने को निशाना बनाया, वो मशहूर सूफी संत लाल शाहबाज़ कलंदर की दरगाह है। बम धमाके में 70 लोग मारे गए हैं और घायलों की संख्या भी दर्जनों में है। पाकिस्तान में पिछले कुछ समय से लगातार चरमपंथी हमले हो रहे हैं।
कहते हैं कि सूफी कवि अमीर ख़ुसरो ने बाबा लाल शाहबाज़ कलंदर के सम्मान में ही 'दमादम मस्त कलंदर' का गीत लिखा था। बाद में इस गीत में बाबा बुल्ले शाह ने कुछ बदलाव किए और 'दमादम मस्त कलंदर' के 'झूलेलाल कलंदर' लाल शाहबाज़ कलंदर ही हैं।

इस गीत की लोकप्रियता दुनिया भर में है और इसी बात से पाकिस्तान की इस दरगाह की अहमियत का अंदाजा लगाया जा सकता है। माना जाता है लाल शाहबाज़ कलंदर के पुरखे बगदाद से ईरान के मशद आकर बस गए थे और फिर वहां से अफगानिस्तान के मरवांद चले गए जहां 'दमादम मस्त कलंदर' वाले बाबा का जन्म हुआ।

लाल शहबाज कलंदर फ़ारसी ज़ुबान के कवि रूमी के समकालीन थे। उन्होंने इस्लामी दुनिया का सफ़र किया और आखिर में पाकिस्तान के सेहवान आकर बस गए। उन्हें यहीं दफनाया भी गया। कहा जाता है कि 12वीं सदी के आखिर में वे सिंध आ गए थे। उन्होंने सेहवान के मदरसे में पढ़ाया और यहीं पर उन्होंने कई किताबें भी लिखीं।
आगे पढ़ें

भारत भी आए लाल शाहबाज़ कलंदर

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

India News

आरबीआई की रिपोर्ट में खुलासा: हर चार घंटे में बैंक का एक स्टाफ पकड़ा जाता है फ्रॉड केस में

आरबीआई की एक रिपोर्ट में हैरान कर देने वाले तथ्य सामने आए हैं।

18 फरवरी 2018

Related Videos

भारत पहुंचे कनाडाई PM के बेटे हैं तैमूर से भी ज्यादा क्यूटनेस, सोशल मीडिया पर छाए

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो भारत के सात दिन के दौरे पर हैं। भारत पहुंचने पर उन्होंने प्लेन से उतरने से पहले नमस्ते करते हुए लोगों का अभिवादन किया।

18 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen