लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Integrated Defence Staff medical Deputy Chief says this is a war we need to win

कोरोना पर 'को-जीत': इंटीग्रेटेड डिफेंस स्टाफ की डिप्टी चीफ बोलीं- इस युद्ध पर जीत होगी सुनिश्चित

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: प्रशांत कुमार Updated Sat, 01 May 2021 03:03 PM IST
सार

इंटीग्रेटेड डिफेंस स्टाफ मेडिकल की डिप्टी चीफ लेफ्टिनेंट जनरल माधुरी कानिटकर ने कहा कि कोरोना के खिलाफ युद्ध में सशस्त्र बलों ने पूरी ताकत झोंक दी है।

इंटीग्रेटेड डिफेंस स्टाफ मेडिकल की डिप्टी चीफ लेफ्टिनेंट जनरल माधुरी कानिटकर
इंटीग्रेटेड डिफेंस स्टाफ मेडिकल की डिप्टी चीफ लेफ्टिनेंट जनरल माधुरी कानिटकर - फोटो : ANI

विस्तार

कोरोना संक्रमण के खिलाफ जारी जंग में सेना के अलावा सशस्त्र बलों ने भी मोर्चा संभाल लिया है। भारतीय सेनाओं की ओर से लगातार कोविड मरीजों की मदद पहुंचाई जा रही है। साथ ही मेडिकल उपकरणों का परिवहन किया जा रहा है।  वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी हालात पर नजर बनाए हुए हैं। पीएम मोदी लगातार सेनाध्यक्षों के साथ समीक्षा बैठक कर जानकारी ले रहे हैं। इसी कड़ी में शनिवार को इंटीग्रेटेड डिफेंस स्टाफ मेडिकल की डिप्टी चीफ लेफ्टिनेंट जनरल माधुरी कानिटकर ने कहा कि कोरोना के खिलाफ युद्ध में सशस्त्र बलों ने पूरी ताकत झोंक दी है। उन्होंने कहा कि सशस्त्र बल टीकाकरण अभियान को तेज करने और विभिन्न राज्यों में ऑक्सीजन सप्लाई करने के लिए तैयार है।



 पीएम मोदी की सीडीएस बिपिन रावत, आर्मी चीफ मनोज नरवणे के साथ हुई बैठकों के बाद इंटीग्रेटेड डिफेंस स्टाफ (मेडिकल) की डिप्टी चीफ माधुरी कानिटकर ने कहा कि हम सभी मिलकर कोरोना युद्ध को हराएंगे। उन्होंने कहा कि 'को-जेईटी' के जरिए कोविड पर जीत सुनिश्चित होगी। उन्होंने कहा कि मेडिकल उपकरणों को लाने जाने के लिए सेना ने 14 रेलवे कोच दिए हैं। 

 

कोरोना के खिलाफ जारी है युद्ध
सभी सशस्त्र बल एक दूसरे का सहयोग कर रहे हैं। लेफ्टिनेंट जनरल माधुरी कानिटकर ने कहा कि इस जंग में जवानों के अलावा डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टॉफ भी अपनी सेवा दे रहे हैं। करीब  200 ट्रक ड्राइवरों की मदद की जा रही है। जो ऑक्सीजन टैकरों को एक जगह से दूसरी जगहों पर ले जा रहे हैं। इसके अलावा दो पोत विदेश के लिए रवाना हो चुके हैं। एक पोत बहरीन में मनामा बंदरगाह से 40 मीट्रिक टन लिक्विड ऑक्सीजन लेकर मुंबई आएंगे। एक अन्य पोत बैंकाक के लिए रवाना हो गया । वहीं आइएनएस ऐरावत सिंगापुर जा रहा है।भारतीय वायुसेना अमेरिका, रूस, सिंगापुर, दुबई समेत अन्य देशों से ऑक्सीजन कंटेनर लाने में सहयोग दे रहे हैं।  बता दें कि देश में कोरोना के मामले 4 लाख के पार पहुंच गए हैं। 

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00