Hindi News ›   India News ›   Dont make Congress internal matters public: Pawan Khera urges party colleagues

कांग्रेस में घमासान: पवन खेड़ा की पार्टी नेताओं से अपील, आंतरिक मामलों को सार्वजनिक न करें

पीटीआई, अहमदाबाद Published by: सुरेंद्र जोशी Updated Thu, 30 Sep 2021 04:27 PM IST

सार

पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह की गृह मंत्री शाह से मुलाकात व कपिल सिब्बल द्वारा उठाई बातों को लेकर खेड़ा की यह अपील सामने आई है।पवन खेड़ा
पवन खेड़ा (फाइल फोटो)
पवन खेड़ा (फाइल फोटो) - फोटो : ANI
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

कांग्रेस में जारी अंदरुनी घमासान के बीच पार्टी प्रवक्ता पवन खेड़ा ने पार्टी के नेताओं से आग्रह किया है कि वे आंतरिक मामलों को सार्वजनिक न करें, इससे जमीनी कार्यकर्ता आहत होते हैं।

विज्ञापन

पूर्व केंद्रीय मंत्री व वरिष्ठ कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने बुधवार को पार्टी के कामकाज के तरीकों और पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह की केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात को लेकर सवाल उठाए थे। इसके मद्देनजर पवन खेड़ा ने गुरुवार को अहमदाबाद में यह बात कही।


भाजपा व कांग्रेस में बताया अंतर
खेड़ा ने कहा कि अनुशासन के लिए आंतरिक मामलों पर सार्वजनिक रूप से चर्चा नहीं की जानी चाहिए और उन्हें उचित मंच पर ही उठाया जाना चाहिए। करोड़ों कांग्रेस कार्यकर्ता इस तरह की हरकतों के कारण दुखी हैं। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को ऐसे मामलों पर उचित मंच पर चर्चा करनी चाहिए, सार्वजनिक रूप से नहीं। भाजपा और कांग्रेस में अंतर है। हमारी पार्टी में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर कोई प्रतिबंध नहीं है, हमारे नेताओं को एक उचित मंच पर अपनी राय रखने की जरूरत है।

पारिवारिक विवाद में छत पर जाकर नहीं चिल्लाते
कांग्रेस प्रवक्ता ने वरिष्ठ नेताओं के रवैये की परोक्ष आलोचना करते हुए कहा कि अगर आपका पारिवारिक विवाद होता है, तब भी आप इसे आंतरिक रूप से सुलझाना पसंद करेंगे या अपने पड़ोसी की छत पर जाकर इसके बारे में बात करेंगे? अनुशासन होना चाहिए, जो एक परिवार, एक संगठन और एक देश को चलाने के लिए आवश्यक है।

सिब्बल ने उठाए थे सवाल
बता दें, बुधवार को वरिष्ठ कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने पंजाब में हो रही घटनाओं के मद्देनजर हाईकमान पर सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा था कि पार्टी कार्यकर्ताओं को यह नहीं पता कि पूर्णकालिक अध्यक्ष की अनुपस्थिति में कौन निर्णय ले रहा है? सिब्बल उस ‘जी-23’ का हिस्सा हैं, जिन्होंने पिछले साल सोनिया गांधी को पत्र लिखकर संगठनात्मक बदलाव की मांग की थी। इसके बाद सिब्बल के घर के बाहर प्रदर्शन की खबरें आई हैं।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00