Hindi News ›   India News ›   CM Chandrashekhar Raos allegation: Crude is not expensive in the world market, in 2014 was $105 per barrel, today 83

भाजपा पर झूठ बोलने का आरोप: चंद्रशेखर राव बोले- 2014 में 105 डॉलर प्रति बैरल था क्रूड, आज 83 पर, किसान आंदोलन का किया समर्थन

एएनआई/ पीटीआई, हैदराबाद/ अमरावती Published by: सुरेंद्र जोशी Updated Sun, 07 Nov 2021 08:43 PM IST

सार

सीएम राव ने कहा कि तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों का हम समर्थन करेंगे। भाजपा ने बीते सात सालों में क्या किया है?  भारत की जीडीपी बांग्लादेश व पाकिस्तान से कम है।
के चंद्रशेखर राव (फाइल फोटो)
के चंद्रशेखर राव (फाइल फोटो) - फोटो : Facebook
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

पेट्रोल डीजल के दामों को लेकर तेलंगाना के सीएम चंद्रशेखर राव ने केंद्र सरकार व भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल महंगा होने का झूठा दावा कर रही है। राव ने कहा कि 2014 में कच्चे तेल के दाम 105 डॉलर प्रति बैरल थे, जबकि आज 83 डॉलर हैं। उधर, आंध्रप्रदेश सरकार ने पेट्रोल डीजल पर वैट घटाने से इनकार कर दिया। 

विज्ञापन


भाजपा ने सात साल में क्या किया?
रविवार को हैदराबाद में पत्रकारों से चर्चा में तेलंगाना के सीएम राव ने कहा कि तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों का हम समर्थन करेंगे। भाजपा ने बीते सात सालों में क्या किया है?  भारत की जीडीपी बांग्लादेश व पाकिस्तान से कम है। केंद्र ने अनावश्यक रूप से कर बढ़ा दिए हैं। 


राव के बिगड़े बोल, जबान काटने की चेतावनी 
राव ने तेलंगाना के भाजपा नेताओं के प्रति आपत्तिजनक बातें कहते हुए चेतावनी दी कि यदि तुम (तेलंगाना के भाजपा नेता) हम पर अनावश्यक टिप्पणी करोगे तो हम तुम्हारी जबान काट देंगे। राव ने आगे कहा कि चीन अरुणाचल प्रदेश में हम पर हमला कर रहा है, लेकिन केंद्र ने कोई कार्रवाई नहीं की है। 

आंध्र सरकार इसलिए नहीं घटाएगी वैट
उधर, आंध्र प्रदेश की राजधानी अमरावती में पत्रकारों से चर्चा करते हुए राज्य के सीएम जगन मोहन रेड्डी ने पेट्रोल व डीजल पर वैट घटाने से इनकार कर दिया। उन्होंने केंद्र पर आरोप लगाया कि वह 3.35 लाख करोड़ उत्पाद शुल्क वसूली करने के बावजूद राज्य को पर्याप्त मुआवजा नहीं दे रहा है। आंध्र के विपक्षी दल जहां वैट घटाने के लिए दबाव डाल रहे हैं वहीं जगन सरकार ने आज अखबारों में विज्ञापन देकर इस मामले में अपना पक्ष रखा है। 

विज्ञापन में कहा गया है कि केंद्र सरकार ने पेट्रोल व डीजल पर 3.35 लाख करोड़ रुपये सेंट्रल एक्साइज टैक्स वसूला, लेकिन राज्य के हिस्से के रूप में मात्र 19,475 करोड़ रुपये वितरित किए। यह मात्र 5.80 प्रतिशत है। जगन सरकार का कहना है कि केंद्र को राज्यों से जुटाए गए कर का 41 फीसदी हिस्सा वितरित करना था। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00