गुजरात: भाजपा ने फिर 'गुमनाम' नेता के नाम पर चला दांव, कई राज्यों में पहले भी आजमा चुका है ये फार्मूला

एजेंसी, नई दिल्ली। Published by: Jeet Kumar Updated Mon, 13 Sep 2021 02:16 AM IST

सार

विधायक दल का नेता चुने गए भूपेंद्र पटेल का नाम कोई भी नहीं ले रहा था लेकिन भाजपा ने आखिर में उनके नाम पर ही मुहर लगाई।
गुजरात की राजनीति: नरेंद्र मोदी, भूपेंद्र पटेल, विजय रूपाणी।
गुजरात की राजनीति: नरेंद्र मोदी, भूपेंद्र पटेल, विजय रूपाणी। - फोटो : Amar Ujala
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने गुजरात में एक बार फिर ‘गुमनाम’ नेता के नाम पर दांव चला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 2014 में सत्ता में आने के बाद भाजपा ने ज्यादातर राज्यों में मुख्यमंत्री पद के लिए चल रहे नामों को नजरअंदाज कर लो प्रोफाइल और सुर्खियों से बाहर चल रहे व्यक्ति को चुना। इतना ही नहीं, पार्टी नेतृत्व प्रभावशाली जातियों के नेता को न चुनकर अन्य को भी चुन चुकी है। 
विज्ञापन


दरअसल गुजरात में सीएम पद के लिए केंद्रीय मंत्रियों पुरुषोत्तम रूपाला, मनसुख मंडाविया, उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल, सौरभ पटेल, गोवर्धन झाड़पिया और प्रफुल्ल पटेल के नाम चर्चा में थे।


इसी तरह की कयासबाजी उत्तराखंड और कर्नाटक में मुख्यमंत्रियों के नामों पर भी लग रही थी लेकिन सीएम उस नेता को बनाया गया जिसका नाम कोई नहीं ले रहा था। इसी तरह से हरियाणा और झारखंड में मनोहर लाल खट्टर और रघुवर दास को चुनकर पार्टी ने सभी को चौंकाया। ये दोनों नेता अपने राज्यों में सियासी तौर से प्रभावशाली जातियों से नहीं आते हैं।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017 में भी योगी आदित्यनाथ का चुना जाना आश्चर्यजनक था जबकि नाम मौजूदा समय में जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा सबसे आगे था। त्रिपुरा में विप्लप कुमार देव और महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस को सीएम बनाना भी लोगों को खटका था। 

दूसरी बार चूके नितिन पटेल
आनंदीबेन पटेल के 2016 में इस्तीफे के बाद पाटीदार समुदाय में अच्छी पकड़ रखने वाले नितिन पटेल का नाम सीएम पद के लिए सबसे आगे चल रहा था। इतना ही नहीं, उन्होंने टीवी चैनलों के सामने खुद को सीएम चुना जाना पक्का मानकर मिठाई भी खा ली थी लेकिन अंत में उनका पत्ता काटकर पार्टी आलाकमान ने जैन समुदाय के विजय रुपाणी को चुना।

रुपाणी के इस्तीफे के बाद भी उनका ही नाम सबसे आगे चल रहा था। विधायक दल की बैठक से पहले विश्वास से भरे नितिन ने कहा था कि विधायक दल का नेता लोकप्रिय, मजबूत, अनुभवी और सभी को स्वीकार्य होना चाहिए।

नए सीएम का चुनाव केवल एक खाली पद भरने की कवायद नहीं है। प्रदेश को एक सफल नेतृत्व की जरूरत है ताकि राज्य सबको साथ लेकर विकास कर सके। इससे उनके नाम की अटकलें तेज हो गई थीं लेकिन एक बार फिर उनकी किस्मत धोखा खा गई। 

शाह, राजनाथ, नड्डा समेत पार्टी नेताओं ने दी बधाई
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत पार्टी के वरिष्ठ नेताओं, मंत्रियों और मुख्यमंत्रियों ने भूपेंद्र पटेल को गुजरात में भाजपा विधायक दल का नेता चुने जाने पर बधाई दी। शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन और पटेल के नेतृत्व में राज्य की विकास यात्रा को नई ऊर्जा और गति मिलेगी। उन्होंने कहा कि गुजरात सुशासन और लोक कल्याण कार्यों में अग्रणी राज्य बना रहेगा।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

गुजरात में पाटीदार समुदाय को पाले में बनाए रखने को भाजपा ने भूपेंद्र के सिर सजाया ताज

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00