15 अप्रैल को अदालत में होंगे रूबी के बयान

ब्यूरो/अमर उजाला, देहरादून Updated Tue, 14 Apr 2015 10:55 AM IST
ruby will give statement in court.
ख़बर सुनें
मसूरी की लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी में छह माह तक फर्जी आईएएस बनकर रही रूबी चौधरी को मजिस्ट्रेटी (164 के) बयान दर्ज करने के लिए अदालत ने तलब किया है। उसे 15 अप्रैल को अदालत में पेश होना होगा।
इस दौरान रिमांड के दौरान मिले कई नोट्स, पत्रों से उसकी हैंडराइटिंग का मिलान भी किया जाएगा। उधर, रिमांड के दौरान रूबी से मिली कंप्यूटर हार्ड डिस्क और किताबों समेत 29 वस्तुओं को कोर्ट में पेश करने के बाद सील कर दिया गया।

सोमवार को दिए आदेश
सोमवार को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट राजीव कुमार की अदालत ने रूबी चौधरी के बयान दर्ज करने और हस्तलेख मिलान के लिए 15 अप्रैल को तलब करने का आदेश दिया।

एसआईटी प्रभारी और जांच अधिकारी शाहजहां जावेद अंसारी ने अदालत को रिमांड के दौरान रूबी से बरामद चीजों की जानकारी दी।

रूबी से संबंधित चीजें हुईं सील
संयुक्त अभियोजन अधिकारी जेएस बिष्ट के मुताबिक सोमवार अदालत में रूबी से बरामद कंप्यूटर हार्डडिस्क, रजिस्टर, किताबें, सीडी, एलबीएस से संबंधित दस्तावेज, आईएएस की ड्रेस, एसडीएम का आईकार्ड आदि चीलें सील की गई। संयुक्त अभियोजन अधिकारी ने कहा कि इनमें से कुछ चीजें जांच के लिए विज्ञान प्रयोगशाला भेजी जाएंगी।

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Lucknow

अब नई नीति के तहत होगा शिक्षकों का तबादला, हाईकोर्ट ने निरस्त की याचिकाएं

सूबे के प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों का तबादला और समायोजन अब नई स्थानांतरण नीति के तहत होगा।

24 मई 2018

Related Videos

VIDEO: इस बच्ची की तस्वीर आपकी आंखे नम कर देगी

अब आपको तस्वीर दिखाते हैं एक ऐसी बेटी की जिसके आंसू अपने पिता के पार्थिव शरीर के आगे नहीं थम रहे थे। बात कर रहे हैं शहीद दीपक नैनवाल की जिन्होंने जम्मू-कश्मीर में आतंकियों से लोहा लेते हुए अपनी शहादत दी।

22 मई 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen