बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

कप्तान बनने और संन्यास लेने के समय के 5 दुर्लभ 'संयोग'

अमर उजाला, दिल्ली Updated Wed, 31 Dec 2014 03:19 PM IST
विज्ञापन
5 coincidence of Dhoni's career from 2008 and 2014
ख़बर सुनें
विकेटकीपर-बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी ने मेलबर्न टेस्ट मैच ड्रॉ कराने के बाद अचानक टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने का फैसला कर लिया। हालांकि संन्यास लेने की घोषणा उन्होंने खुद करने के बजाए बीसीसीआई को मेल के जरिए सूचित करके किया और फिर वहां से धोनी के इस फैसले के बारे में सभी को जानकारी मिली।
विज्ञापन


कप्तान धोनी के अचानक टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने के पीछे भले ही कई कारण बताए जा रहे हों लेकिन उनके शानदार क्रिकेट करियर और कप्तानी में टीम इंडिया को गौरवान्वित होने का मौका कई बार मिला। वह टीम के सबसे सफल टेस्ट कप्तान तो हैं और उनकी ही कप्तानी में टीम इंडिया टेस्ट रैंकिंग में पहले पायदान पर भी पहुंची थी।


धोनी 2008 में पूर्ण रूप से भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान बने। अनिल कुंबले के संन्यास लेने के बाद उन्हें टीम इंडिया की कमान सौंप दी गई थी। धोनी को जिस अंदाज में टेस्ट टीम की कप्तानी मिली थी उसी अंदाज में उन्होंने न सिर्फ अपनी कप्तानी छोड़ दी बल्कि टेस्ट क्रिकेट संन्यास भी ले लिया। कप्तान बनने और कप्तानी छोड़ने के समय के दौरान जानिए 5 दिलचस्प संयोग।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

धोनी के तब और अब में है 5 दुर्लभ संयोग

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें क्रिकेट समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। क्रिकेट जगत की अन्य खबरें जैसे क्रिकेट मैच लाइव स्कोरकार्ड, टीम और प्लेयर्स की आईसीसी रैंकिंग आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X