विज्ञापन

भारत के टीवी सीरियल्स से पाकिस्तान में क्यों मचा है बवाल? क्यों टेंशन में हैं इमरान खान

Rajesh Badalराजेश बादल Updated Mon, 14 Jan 2019 02:16 PM IST
पाकिस्तान में हर साल हिन्दुस्तान की सात-आठ फ़िल्मों पर बंदिश लग जाती है।
पाकिस्तान में हर साल हिन्दुस्तान की सात-आठ फ़िल्मों पर बंदिश लग जाती है। - फोटो : File Photo
ख़बर सुनें
पाकिस्तान में एक बार फिर हिन्दुस्तान का मनोरंजन सुप्रीम कोर्ट में है। हिन्दुस्तान की कोख़ से निकले इस मुल्क़ को लगता है कि भारत की फ़िल्में , टीवी प्रोग्राम और संस्कृति इस्लाम पर आक्रमण कर रही हैं। हर साल वहां हिन्दुस्तान की सात-आठ फ़िल्मों पर बंदिश लग जाती है। बीते आठ साल में भारत की 38 फ़िल्मों पर रोक लगाईं गई। उसके कारण भी बड़े अटपटे हैं। वहां के सुप्रीमकोर्ट का मानना है कि इससे पाकिस्तानी कल्चर को नुकसान पहुंचता है। पिछले साल आठ फ़िल्मों पर रोक लगा दी गई। इनमें -भाग मिल्खा भाग,रईस ,रांझना ,परमाणु ,मुल्क़,पैडमेन, दंगल,टाइगर ज़िंदा है,उड़ता पंजाब ,ढिशूम ,नीरजा ,कैलेंडर गर्ल्स ,हैदर,डर्टी पिक्चर,लादेन और फैंटम जैसी अनेक फ़िल्में शामिल हैं।
विज्ञापन
कट्टरपंथी समाज और पाकिस्तान 
पाकिस्तान की अदालतें और वहां का कटटरपंथी समाज अक्सर भारत की फ़िल्मों और टेलिविजन कार्यक्रमों को लेकर दोहरा चरित्र अख़्तियार करता रहा है। यूं जो लोग सड़क पर भारतीय मनोरंजन का विरोध करते हैं, अपने घर में छिप छिपकर हिन्दुस्तानी फ़िल्में देखते हैं। भारतीय फ़िल्मों के वहां के पढ़े- लिखे समाज में गुप्त शो होते हैं और कई कई दिन उन पर महफ़िलों में चर्चा होती है। ताज़ा मामला वहां के टीवी मनोरंजन चैनल फिल्माजिया में भारतीय मनोरंजन सामग्री पर बंदिश लगाने से जुड़ा है। आपत्ति इस बात पर है कि इस चैनल पर हिन्दुस्तानी कंटेंट 65 फ़ीसदी से अधिक चला जाता है।
 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें और प्रसाद की होम डिलीवरी पायें
त्रिवेणी संगम पूजा

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें और प्रसाद की होम डिलीवरी पायें

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Blog

पश्चिम बंगाल में अमित शाह के इस मास्टर प्लान से उड़ी ममता बनर्जी की नींद, ये है बीजेपी की रणनीति?

इन दिनों उत्तरी बंगाल की मालदा लोकसभा सीट चर्चा में है। वजह है वहां 22 जनवरी को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की होने वाली चुनावी रैली। इस रैली से ज्यादा चर्चा है अमित शाह के हेलीपैड को लेकर।

21 जनवरी 2019

विज्ञापन

दिन में हुआ अंधेरा, लोगों को जलानी पड़ी गाड़ियों की हेडलाइट

बारिश और हिमपात ने पूरे उत्तर भारत में कहर बरपा रखा है। पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी का असर मैदानी इलाकों में भी देखने को मिल रहा है। सर्द मौसम से 26 जनवरी तक छुटकारे के आसार नजर नहीं आ रहे।

22 जनवरी 2019

Related

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree