विज्ञापन
विज्ञापन

प. बंगाल से ग्राउंड रिपोर्टः जानें कैसी है बीजेपी की स्थिति, कहां खड़े हैं कांग्रेस-ममता और लेफ्ट?

Sanjiv Pandeyसंजीव पांडेय Updated Tue, 23 Apr 2019 04:13 PM IST
ममता बनर्जी के लिए कितनी आसान होगी बंगाल की राह?
ममता बनर्जी के लिए कितनी आसान होगी बंगाल की राह? - फोटो : PTI
ख़बर सुनें
इस समय यूपी से ज्यादा चुनावी गर्मी पश्चिम बंगाल में है। भाजपा का सबसे ज्यादा जोर पश्चिम बंगाल में लगा है, क्योंकि हंग पार्लियामेंट की स्थिति में पश्चिम बंगाल ही दिल्ली की सरकार तय करेगा। भाजपा हिंदी बेल्ट में हो रहे अपने नुकसान की भरपाई पश्चिम बंगाल से करना चाहती है। ममता बनर्जी 2014 का अपना प्रदर्शन दोहरा कर 2019 में दिल्ली की किंगमेकर बनना चाहती हैं। ममता ने जनवरी 2019 में कोलकाता के ब्रिगेड ग्राउंड में 23 राजनीतिक दलों की रैली कर शक्ति प्रदर्शन किया था। इधर, बंगाल में सबसे खराब हालत लेफ्ट फ्रंट और कांग्रेस की है। लेफ्ट फ्रंट जमीन खो रहा है। कांग्रेस अस्तित्व बचाने की लड़ाई लड़ रही है।     
विज्ञापन
42 सीटें बनाती है बंगाल को सबसे महत्वपूर्ण 
बिहार के विभाजन के बाद लोकसभा की 42 सीटों के हिसाब से पश्चिम बंगाल खासा महत्वपूर्ण है। हंग पार्लियामेंट की स्थिति में तो पश्चिम बंगाल का महत्व और बढ़ जाता है। उतर प्रदेश, महाराष्ट्र के बाद सरकार बनाने में पश्चिम बंगाल महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगा। 

2014 के लोकसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस का जलवा यहां दिखा। 42 में से 34 सीटें टीएमसी ने जीतीं। भाजपा को 2 सीटें मिली थीं। कांग्रेस को राज्य से 4 और सीपीएम को 3 सीटें मिली थीं। 2014 में भाजपा को सीट बेशक 2 मिली, लेकिन वोट बैंक 2009 के 6 प्रतिशत के मुकाबले 17 प्रतिशत हो गया।

हालांकि ममता बनर्जी ने भी वोट बैंक में 2009 के 31 प्रतिशत के मुकाबले 40 प्रतिशत वोट पाकर अपनी मजबूती दिखाई। लेकिन राज्य में सीपीएम और कांग्रेस वोट बैंक के हिसाब से नीचे की तरफ चले गए। सीपीएम का वोट 2009 के 42 प्रतिशत के मुकाबले 30 प्रतिशत रह गया। वहीं कांग्रेस का 13 प्रतिशत के मुकाबले 10 प्रतिशत रह गया। भाजपा वोट प्रतिशत के हिसाब से 2014 में सफल रही। 2014 का उत्साह ही भाजपा का आत्मविश्वास बढ़ाए हुए है। हालांकि 2016 विधानसभा चुनाव में भाजपा यहां 3 सीटें ही जीत पाईं। इसके बावजूद भाजपा का उत्साह बना रहा। 2018 में उलबेरिया लोकसभा विधानसभा उपचुनाव में भाजपा ने सीपीएम, कांग्रेस को नीचे धकेल दूसरा स्थान प्राप्त किया।    

सिर्फ हिंदुत्व का सहारा है भाजपा के पास?
2014 में दिल्ली की गद्दी पर काबिज होने के बाद ही भाजपा का ऑपरेशन बंगाल शुरू हो गया था, क्योंकि लेफ्ट पॉलिटिक्स के गढ़ होने के बाद भी बंगालियों के जीवन में हिंदू धार्मिक त्योहारों का बड़ा प्रभाव है। बंगाल की धार्मिक जनसांख्यिकी ने भाजपा को खासी मदद की है। बंगाल में 27 प्रतिशत मुस्लिम हैं। 

इस बीच बंगाल मे कुछ आतंकी गतिविधियों के संकेत भी मिले। अक्टूबर 2014 में वर्धमान में एक बम विस्फोट हो गया। बम विस्फोट में इंडियन मुजाहदीन के दो आतंकी मारे गए। पुलिस ने यहां से भारी मात्रा में गोला-बारूद बरामद किया। भाजपा ने इसे मुद्दा बना लिया। भाजपा ने आऱोप लगाया कि ममता बनर्जी इन आतंकियों को शरण दे रही है। ब्लास्ट का जायजा लेने खुद प्रधानमंत्री के सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल वर्धमान पहुंच गए।

2015 के बाद भाजपा ने बांग्लादेशी घुसपैठियों का मामला जमकर उठाया। ममता बनर्जी पर मुस्लिम तुष्टिकरण का आरोप लगाया। यही नहीं हिंदू त्योहारों के दौरान निकाले जाने वाले जुलूसों पर रोक लगाने का मुद्दा भी इस दौराना जमकर उछला और संघ परिवार और बजरंग दल खुलकर बंगाल में सक्रिय रहे। अप्रैल 2017 में संघ समर्थित संगठनों ने रामनवमी के अवसर पर 175 जुलूस पूरे बंगाल में निकाले। खास बात यह रही कि बजरंग दल की ऱणनीति से घबराई टीएमसी ने रामनवमी का जुलूस निकालना शुरू कर दिया। यहां तक कि दोनों पार्टियों ने हुनमान जयंती का समारोह मनाना शुरू कर दिया।

इस बीच रामनवमी के जुलूस के दौरान कुछ जगहों पर दंगे भी हुए। हुगली में 2017 में दंगे हुए। 2018 में रायगंज और आसनसोल में धार्मिक जुलूस के दौरान दंगा हुआ। इससे पहले 2016 में भी कई दंगे बंगाल में हुए। 2018 में उलबेरिया लोकसभा उपचुनाव में भाजपा ने सीपीएम, कांग्रेस को तीसरे औऱ चौथे नंबर पर भेज दिया। भाजपा को यहां 2.93 लाख वोट मिले  जो 2014 के आम चुनाव के 1.37 लाख के मुकाबले दोगुना वोट था।  
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन
Oppo Reno2

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि  व्  सर्वांगीण कल्याण  की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि व् सर्वांगीण कल्याण की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Blog

एड्स के खिलाफ जंग में बाजार कस रहा है कमर, ऐसे बन रही प्लानिंग

एड्स से लड़ने वालों का अब नया नारा है- 'एड्स अब डैथ सेंटस यानी मृत्यु दण्ड नहीं।' एड्स रोग को मैनज किया जा सकता है ठीक वैसे जैसे डॉक्टर उच्च रक्तचाप और डायबटीज का प्रबंधन करते हैं।

18 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

जिया खान के जिक्र पर यूं भर आया सूरज पंचोली का गला

सूरज पंचोली की फिल्म सैटेलाइट शंकर का ट्रेलर लॉन्च हो गया है। इस दौरान मीडिया से बातचीत के दौरान जिया खान के जिक्र पर सूरज पंचोली का गला भर आया।

17 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree