World Entrepreneur's Day: आप भी शुरू कर सकते हैं अपना कारोबार, सरकार देगी 10 लाख रुपये की मदद

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: ‌डिंपल अलावाधी Updated Sat, 21 Aug 2021 02:18 PM IST

सार

आज दुनियाभर में वर्ल्ड एंटरप्रेन्योर डे मनाया जा रहा है। ऐसे में हम आपको मोदी सरकार की एक खास योजना के बारे में बताने जा रहे हैं जिसकी मदद से आप भी अपना कारोबार शुरू कर सफल उद्यमी बन सकते हैं।
मुद्रा योजना
मुद्रा योजना - फोटो : https://www.mudra.org.in/
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

कोरोना वायरस महामारी के चलते कई लोगों का कारोबार प्रभावित हुआ है और लोगों की नौकरी पर संकट मंडरा रहा है। ऐसे में अगर आप अपना कारोबार शुरू कर एक उद्यमी बनना चाहते हैं और इसके लिए आपको पैसों की जरूरत है, तो सरकार की मुद्रा लोन योजना से आपको मदद मिल सकती है। इस योजना के जरिए सरकार लोगों के सपनों को साकार कर रही है। इस योजना के तहत बैंक 10 लाख रुपये तक का कर्ज देते हैं। इस योजना के तहत मोदी सरकार करोड़ों रुपये का कर्ज पहले ही दे चुकी है। आसान भाषा में कहें तो मुद्रा योजना छोटे उद्यमियों को आसानी से कर्ज उपलब्ध कराने वाली योजना है। इसका पूरा नाम माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रीफाइनेंसिंग एजेंसी है। बता दें कि इसे प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के नाम से भी जाना जाता है।
विज्ञापन


सरकार ने इस योजना की शुरुआत छोटे व्यापारियों और मझोले उद्योगों को मजबूती देने के लिए की। वैसे तो छोटे व्यापारियों को वित्तीय मदद मुहैया कराने के लिए कई सरकारी योजनाएं चल रही हैं लेकिन इनमें मुद्रा योजना बेहद अहम है। आइए जानते हैं इसके तहत किसको कितना लोन मिल सकता है।


इस योजना के तहत कर्ज लेने वालों को तीन वर्गों में बांटा गया है। इसमें व्यवसाय शुरू करने वालें मध्यम स्थिति में कर्ज की चाहत वाले और विकास के अगले स्तर पर जाने की चाहत रखने वाले लोग शामिल हैं। इन तीन हिस्सों की जरूरतों को पूरा करने के लिए मुद्रा बैंक ने तीन कर्ज उपकरणों की शुरुआत की है।  
  • शिशु : इसके दायरे में 50 हजार रुपये तक के कर्ज आते हैं।
  • किशोर : इसके दायरे में 50 हजार से पांच लाख रुपये तक के कर्ज आते हैं।
  • तरुण : इसके दायरे में पांच लाख से 10 लाख रुपये तक के कर्ज आते हैं।

नजदीकी बैंक से करें संपर्क
अगर कोई व्यक्ति व्यापार के लिए कर्ज चाहता है तो वह अपने नजदीकी बैंक शाखा से संपर्क कर सकता है। इसके लिए आपको मकान के मालिकाना हक या किराये के दस्तावेज, काम से जुड़ी जानकारी, आधार, पैन नंबर सहित कई अन्य दस्तावेज देने होंगे और बैंक मैनेजर को कामकाज से बारे में बताना होगा। 

कितना लगता है ब्याज?
मुद्रा लोन की खास बात यह है कि इसमें कोई निश्चित ब्याज दर नहीं है। अलग-अलग बैंक लोन पर अलग-अलग दर से ब्याज वसूल सकते हैं। ब्याज दर का निर्धारण कारोबार की प्रकृति और उससे जुड़े जोखिम के आधार पर होता है। बैंकों को सूचित किया गया है कि वे भारतीय रिजर्व बैंक के दिशानिर्देशों के अंतर्गत उचित ब्याज दरें लें।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00