विज्ञापन
विज्ञापन

सात कंपनियों की संपत्तियों को बेच कर 21,700 करोड़ रुपये जुटाएंगे अनिल अंबानी

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Updated Thu, 11 Jul 2019 02:57 PM IST
anil ambani plans to sell assets worth 21700 crore rupees to clear debt
ख़बर सुनें
एक जमाने में देश के दिग्गज अरबपतियों में शुमार और रिलायंस एडीएजी समूह के मालिक अनिल अंबानी अपनी सात कंपनियों की संपत्तियों को बेचने जा रहे हैं। इनको बेचकर 21,700 करोड़ रुपये जुटाने का प्लान है, जिससे वो अपनी देनदारी को कम करेंगे। अनिल अंबानी पर 93900 करोड़ रुपये की कुल देनदारी है।

बेच देंगे यह संपत्तियां

ब्लूमबर्ग के हवाले से टाइम्स ऑफ इंडिया ने लिखा है कि रिलायंस कम्यूनिकेश के अलावा समूह की चार कंपनियों पर बहुत ज्यादा देनदारी है। इस देनदारी को चुकाने के लिए ही संपत्तियों को बेचा जाएगा। जिन कंपनियों पर देनदारी है, उनमें रिलायंस कैपटिल पर 38,900 करोड़ रुपये; रिलायंस पावर पर तीन हजार करोड़ रुपये; रिलायंस इंफ्रा पर 17,800 करोड़ रुपये और रिलायंस इंजीनियरिंग पर सात हजार करोड़ रुपये बकाया है। वहीं आरकॉम पर 35,600 करोड़ का बकाया है। हालांकि इस कंपनी पर दिवालिया प्रक्रिया के तहत कार्रवाई हो रही है। 

11 जून तक यह था बाजार पूंजीकरण

रिलायंस कम्यूनिकेशंस
विज्ञापन
आरकॉम ने सबसे अधिक कर्ज भारतीय स्टेट बैंक (SBI) से लिया है। वहीं 11 जून तक आरकॉम का बाजार पूंजीकरण 462 करोड़ रुपये था।

रिलायंस होम फाइनेंस
अनिल अंबानी की रिलायंस होम फाइनेंस पर 13,120 करोड़ रुपये का कर्ज है। 11 जून तक इस कंपनी का बाजार पूंजीकरण 860 करोड़ रुपये था।

रिलायंस कैपिटल 
रिलायंस कैपिटल का बाजार पूंजीकरण 2,373 करोड़ रुपये था। 

रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर
रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर का बाजार पूंजीकरण 1708 करोड़ रुपये था।

रिलायंस पावर
रिलायंस पावर का बाजार पूंजीकरण 1,669 करोड़ रुपये था।

रिलायंस नेवल एंड इंजीनियरिंग
रिलायंस नेवल एंड इंजीनियरिंग पर 11 जून तक बाजार पूंजीकरण 467 करोड़ रुपये था। 

पिछले 14 महीने में समूह ने 35 हजार करोड़ रुपये की देनदारी को चुका दिया है। इसके अलावा कंपनी आगे भी अपने देनदारी को समय-समय पर चुकाती रहेगी। निवेशकों को भरोसा देते हुए अनिल ने कहा कि एक साल में कंपनी 24, 800 करोड़ रुपये का मूलधन और 10,600 करोड़ रुपये का ब्याज वापस कर चुकी है। 

कितना पैसा मिलने की उम्मीद

कंपनी                              संपत्ति                                                 राशि
आर इंफ्रा                   नौ सड़क प्रोजेक्ट                                9000 करोड़ रुपये
आर इंफ्रा                  रिलायंस हेडक्वार्टर                                किराये पर देना है (राशि तय नहीं)
रिलायंस कैपिटल        बीमा कंपनी                                         5000 करोड़ रुपये 
रिलायंस कैपिटल        निप्पॉन लाइफ असेट मैनेजमेंट                4500 करोड़ रुपये
रिलायंस कैपिटल        प्राइम फोकस                                      1000 करोड़ रुपये
रिलायंस कैपिटल        रियल इस्टेट                                        1000 करोड़ रुपये
रिलायंस कैपिटल        रेडियो बिजनेस                                    1200 करोड़ रुपये
विज्ञापन

Recommended

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2019 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Business Diary

HDFC ने त्योहारी सीजन में होम लोन पर 0.10 फीसदी घटाई ब्याज दर

देश की सबसे बड़ी हाउसिंग फाइनेंस कंपनी एचडीएफसी ने अपनी ब्याज दरों में 10 बीपीएस (0.10 फीसदी) की कटौती की है। फेस्टिव सीजन में कंपनी की इस घोषणा से ग्राहकों को बड़ी राहत मिली है।

14 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

आरबीआई की पीएमसी ग्राहकों को और राहत, खाते से रुपये निकालने की सीमा 25 से बढ़ाकर 40 हजार की

त्योहारी सीजन को देखते हुए आरबीआई ने पीएमसी बैंक पर लगी पाबंदियों के बीच ग्राहकों को बड़ी राहत दी है। पीएमसी ग्राहक अब खाते से 25 हजार के बजाय 40 हजार रुपये तक निकाल सकेंगे।

14 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree