विज्ञापन
विज्ञापन

कीमतों पर काबू पाने को यूएई से प्याज खरीदेगी सरकार

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Updated Fri, 08 Nov 2019 08:07 PM IST
to curb sttep onion prices, government to procure it from united arab emirates
ख़बर सुनें

खास बातें

  • नैफेड को 300 टन प्याज खरीदकर ग्राहकों तक पहुंचाने का निर्देश
  • सख्ती से लागू होगी स्टॉक लिमिट, मिलीभगत करने वाले व्यापारियों पर होगी कार्रवाई 
प्याज की चढ़ती कीमतों को काबू करने के लिए सरकार ने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) से प्याज खरीदने का फैसला किया है। इसके लिए प्रक्रिया शुरू हो गई है। कैबिनेट सचिव राजीव गाबा के साथ शुक्रवार को हुई बैठक में खाद्य आपूर्ति, उपभोक्ता मामलों और कृषि मंत्रालय के अधिकारियों ने यह जानकारी दी। 
विज्ञापन
जानकारी के मुताबिक, प्याज की कीमतों में फिलहाल कमी नहीं आएगी क्योंकि मांग और आपूर्ति में अंतर कम नहीं हो रहा है। इस अंतर को घटाने के लिए नैफेड को राजस्थान के अलवर के किसानों से प्रतिदिन 300 टन प्याज खरीदकर उपभोक्ताओं तक पहुंचाने को कहा गया है। इसके अलावा, सरकार एपीएमसी के जरिए प्याज बिकवाने की तैयारी में है ताकि बिचौलियों को हटाकर किसान सीधे उपभोक्ताओं तक प्याज पहुंचा सकें। 

अधिकारियों ने बताया कि उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल और झारखंड समेत एक दर्जन राज्यों ने केंद्र से प्रतिदिन 300 टन प्याज उपलब्ध कराने का आग्रह किया है। 
अधिकारियों के मुताबिक, आपूर्ति में कमी के अलावा राजस्थान, मध्यप्रदेश और दिल्ली के कुछ व्यापारियों की मिलीभगत से प्याज की कीमतें आसमान छू रही हैं। इन व्यापारियों के खिलाफ कार्रवाई करने का भी फैसला किया गया है। 

मंडियों की छुट्टियां रद्द

सूत्रों के मुताबिक, केंद्र के आग्रह पर प्याज की निर्बाध आपूर्ति के लिए राजस्थान और दिल्ली की मंडियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं। साथ ही आढ़तियों की स्टॉक लिमिट को सख्ती से लागू किया जाएगा, जिससे वे 50 टन से ज्यादा प्याज नहीं रोक पाएंगे। इसके अलावा, कैबिनेट सचिव के साथ बैठक में तय हुआ कि इस संकट से निपटने के लिए मंत्रालय राज्यों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हालात पर निगाह रखेंगे। 

20 नवंबर के बाद घटेगी कीमत

सरकार के तमाम प्रयासों के बाद भी प्याज की कीमतों में 20 नवंबर से पहले कमी आती नहीं दिखाई दे रही है। दरअसल, खाद्य आपूर्ति, उपभोक्ता मामले और कृषि मंत्रालय के अधिकारियों का एक उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल तुर्की और इजिप्ट जाकर निर्यातकों से सीधे प्याज की खरीद सुनिश्चित करेगा। इन देशों से 12 नवंबर को दो हजार मीट्रिक टन प्याज की पहली खेप आएगी। वहीं, यूएई से प्याज आने में कम-से-कम 8 से 10 दिन लगेंगे। 
विज्ञापन

Recommended

सफलता क्लास ने सरकारी नौकरियों के लिए शुरू किया नया फाउंडेशन कोर्स
safalta

सफलता क्लास ने सरकारी नौकरियों के लिए शुरू किया नया फाउंडेशन कोर्स

इस काल भैरव जयंती पर कालभैरव मंदिर (दिल्ली) में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात : 19-नवंबर-2019
Astrology Services

इस काल भैरव जयंती पर कालभैरव मंदिर (दिल्ली) में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात : 19-नवंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2019 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Business Diary

80 हजार करोड़ भुगतान मामले में एयरटेल, वोडाफोन-आइडिया दायर करेंगे पुनर्विचार याचिका

समायोजित सकल राजस्व (एजीआर) को लेकर रिलायंस जियो को छोड़कर के प्रमुख टेलीकॉम कंपनियां सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर करने जा रही हैं।

13 नवंबर 2019

विज्ञापन

कर्नाटक के 17 विधायकों को सुप्रीम कोर्ट ने भी अयोग्य ठहराया लेकिन लड़ सकेंगे चुनाव

कर्नाटक में कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर के 17 अयोग्य विधायकों की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुना दिया है। कोर्ट ने कहा कि अयोग्य करार दिए गए 17 विधायक अब चुनाव लड़ सकेंगे।

13 नवंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election