रिलायंस के नतीजे जारी: 53 हजार करोड़ रुपये से अधिक का रिकॉर्ड मुनाफा, सात रुपये प्रति शेयर लाभांश घोषित

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली। Published by: योगेश साहू Updated Fri, 30 Apr 2021 08:09 PM IST

सार

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 31 मार्च को समाप्त वित्त वर्ष 2020-21 के नतीजे शुक्रवार को घोषित कर दिए। इस दौरान कंपनी को कुल 53,739 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ।
नेटमेड्स-रिलायंस-फ्यूचर ग्रुप
नेटमेड्स-रिलायंस-फ्यूचर ग्रुप - फोटो : अमर उजाला--रोहित झा
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 31 मार्च को समाप्त वित्त वर्ष 2020-21 के नतीजे शुक्रवार को घोषित कर दिए। इस दौरान कंपनी को कुल 53,739 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ। इसमें 34.8 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज हुई है। कंपनी ने अपने शेयर धारकों को सात रुपये प्रति अंश लाभांश देने की घोषणा की है।
विज्ञापन

रिलायंस इंडस्ट्रीज द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार जियो प्लेटफॉर्म लि. की सकल आय रिकॉर्ड 32,359 करोड़ रुपये रही। इसी तरह रिलायंस रिटेल वेंचर्स लि. की सकल आय 9,789 करोड़ रुपये रही।  बाजार पूंजीकरण के आधार पर देश के इससे सबसे बड़े कंपनी समूह की समेकित आय 1.54 लाख करोड़ रुपये रही जो कि पिछले वर्ष के मुकाबले 11 फीसदी ज्यादा है।


अंतिम तिमाही में शुद्ध लाभ दोगुना से ज्यादा बढ़ा 
उद्योगपति मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज लि. का एकीकृत शुद्ध लाभ वित्त वर्ष 2020-21 की अंतिम तिमाही जनवरी-मार्च यानी अंतिम तिमाही (क्यू 4) में दोगुना से अधिक बढ़कर 13,227 करोड़ रुपये रहा। इससे पूर्व वित्त वर्ष 2019-20 की इसी तिमाही में उसे 6,348 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था। 

खुदरा व दूरसंचार क्षेत्रों से बढ़ी आय, रिफाइनिंग में सुस्ती
खुदरा क्षेत्र के उपभोक्ता कारोबार और दूरसंचार तथा पेट्रोरसायन क्षेत्र में तिमाही आधार पर सुधार से कंपनी का लाभ बढ़ा है। हालांकि रिफाइनिंग कारोबार में सुस्ती जारी है।

कंपनी का तेल और रसायन कारोबार तिमाही आधार पर बेहतर हुआ है, लेकिन एक साल पहले इसी तिमाही की तुलना में कमाई कम हुई है। इसका कारण महामारी के कारण ईंधन मांग कम होने से रिफाइनिंग करोबार में सुस्ती है।  इसकी भरपाई दूरसंचार और खुदरा कारोबार ने किया जिनका प्रदर्शन अच्छा रहा है। इन दोनों क्षेत्रों का कमाई में योगदान अब 45 प्रतिशत हो गया है जो एक साल पहले 33 प्रतिशत था। चौथी तिमाही में कंपनी को अमेरिकी शेल संपत्ति की बिक्री से 797 करोड़ रुपये का अपवादस्वरूप लाभ हुआ, जो चौथी तिमाही के परिणाम में शामिल है।

जियो का शुद्ध लाभ 47 फीसदी बढ़ा

कंपनी की दूरसंचार इकाई जियो का शुद्ध लाभ मार्च 2021 को समाप्त चौथी तिमाही में सालाना आधार पर 47.5 प्रतिशत बढ़कर 3,508 करोड़ रुपये रहा। कंपनी ने शुद्ध रूप से 1.54 करोड़ से अधिक ग्राहक जोड़े।

प्रति उपभोक्ता कमाई घटी
हालांकि इंटरकनेक्ट यूजेज चार्जेज शून्य कर उसकी जगह बिल एंड कीप (बिल काटने,अपने पास ही रखने) की जनवरी 2021 से लागू नई व्यवस्था अपनाये जाने से प्रति उपभोक्ता कमाई घटकर 138 रुपये प्रति माह पर आ गई, जो इससे पूर्व तिमाही में 151 रुपये प्रति माह थी।

रिलायंस के अनुसार उसकी टेलीकॉम कंपनीजियो प्लेटफॉर्म लि.के कुल ग्राहक 42.60 करोड़ हो गए। आलोच्य वर्ष की चौथी तिमाही में कंपनी ने 3.10 करोड़ नए ग्राहक जोड़े। जियो ने भी इस दौरान कोरोना की चुनौती से निपटने के लिए विभिन्न जमीनी कार्य शुरू किए। 

किराना कारोबार से रिकॉर्ड आय

रिलायंस इंडस्ट्रीज लि. को किराना कारोबार से रिकॉर्ड आय हुई और उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स कारोबार में मजबूत वृद्धि से खुदरा कारोबार का कर पूर्व लाभ 41 प्रतिशत बढ़कर 3,623 करोड़ रुपये रहा। कंपनी ने इस दौरान 826 नए स्टोर जोड़े, जिससे उसके दुकानों की संख्या बढ़कर 12,711 पहुंच गई।

स्टोर में ग्राहक 35 से 40 फीसदी घटे
हालांकि कोविड संक्रमण बढ़ने से कंपनी का खुदरा कारोबार अप्रैल में प्रभावित हुआ है। इस दौरान ग्राहकों के स्टोर में आने की संख्या 35 से 40 प्रतिशत कम हुई है।

तेल व रसायन कारोबार से लाभ घटा
पेट्रोरसायन मार्जिन में सुधार बना हुआ है। लेकिन कोविड के कारण रिफाइनरी निम्न क्षमता पर काम कर रही है। इससे तेल और रसायन कारोबार का कर पूर्व लाभ (ईबीआईटीडीए) 4.6 प्रतिशत घटकर 11,407 करोड़ रुपये रहा।

सकल कर्ज घटकर 2.51 लाख करोड रुपये हुआ
कंपनी का सकल कर्ज मार्च 2021 के अंत में घटकर 2,51,811 करोड़ रुपये पर आ गया, जो दिसंबर 2020 के अंत में 2,57,413 करोड़ रुपये था। वहीं कंपनी के पास नकद राशि बढ़कर 2,54,019 करोड़ रुपये पर पहुंच गई जो इससे पहले, 2,20,524 करोड़ रुपये थी

रिलायंस जियो में मजबूत वृद्धि : मुकेश अंबानी

वित्तीय परिणाम के बारे में रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा, 'हमने तेल और रसायन तथा खुदर क्षेत्र में अच्छा सुधार दर्ज किया है। जबकि डिजिटल सेवा कारोबार (रिलायंस जियो समेत) में मजबूत वृद्धि हुई है।' 

अंबानी ने कहा कि यह भारत के लिये असाधारण चुनौतियों वाला समय है। हमारी इस समय प्राथमिकता देश और समुदाय को कोविड संकट से बाहर निकालने की है। हमने महामारी की रोकथाम के लिए चलाए जा रहे अभियान को मजबूती प्रदान करने को लेकर अपना बेहतरीन संसाधन लगाया है। 

जामनगर रिफाइनरी से ऑक्सीजन आपूर्ति, 75 हजार को दिया रोजगार
कंपनी ने बताया कि देश में जारी महामारी से निपटने के लिए जामनगर रिफाइनरी से मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है। इसके अलावा भोजन भी प्रदान किया जा रहा है। कंपनी ने कोविड केयर हॉस्पिटल भी बनाए हैं। समीक्षाधीन वर्ष में कंपनी ने 75 हजार लोगों को रोजगार प्रदान किया है। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00