शेयर बाजार में काला सोमवार, दो दिन में निवेशकों के डूबे पांच लाख करोड़, पांच वजहें

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Updated Mon, 08 Jul 2019 05:42 PM IST
विज्ञापन
Sensex Share Market: black monday in share market, investor lost five lakh crore rupees in two days

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
शेयर बाजार में सोमवार का दिन निवेशकों का दिन काला रहा। शुक्रवार और सोमवार दो दिन मिलाकर के निवेशकों के पांच लाख करोड़ रुपये से ज्यादा की चपत लग गई। बजट के अलावा भी पांच कारण रहे, जिनकी वजह से बाजार में बड़ी गिरावट देखने को मिली। 
विज्ञापन

कंपनियों का बाजार पूंजीकरण घटा

कंपनियों का बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) इन दो दिनों में 2.75 फीसदी तक कम हो गया। बजट से निवेशकों को किसी तरह का कोई उत्साह देखने को नहीं मिला था। इसके बाद विदेशी बाजारों में भी गिरावट का असर भी पड़ा। विदेशी संस्थागत निवेशकों पर लांग टर्म कैपिटल गेन टैक्स बढ़ाने का प्रस्ताव भी बाजार को रास नहीं आया। सोमवार को निवेशकों के तीन लाख करोड़ रुपये डूब गए। 

इन कारणों से डूबा बाजार

जिन वजह या कारणों के चलते बाजार में निवेशकों को भारी भरकम चपत लगी, वो इस प्रकार हैं.....

1. सूचीबद्ध कंपनियों में शेयरहोल्डिंग बढ़ाने का प्रस्ताव

आम बजट में शेयर बाजार में सूचीबद्ध कंपनियों की शेयर होल्डिंग 25 फीसदी से 35 फीसदी करने का प्रस्ताव दिया गया है। इसको एक से दो साल में लागू करने का है। इसके साथ ही बजट में कंपनियों पर 20 फीसदी बायबैक टैक्स लगाने के प्रस्ताव भी दिया गया। 

2. एशियाई बाजार का बुरा हाल

एशियाई बाजार का सोमवार को बुरा हाल रहा। अमेरिका में नौकरियों का डाटा जारी होने के कारण शंघाई 2.5 फीसदी, हांगकांग और दक्षिण कोरिया का बाजार 1.8 फीसदी, जापान निक्केई 1.01 फीसदी और ताइवान का ताइएक्स 0.53 फीसदी गिर गए। 

3. अमेरिका में बढ़ी नौकरियां

अमेरिका में इस साल नौकरियां काफी बढ़ गई। जून के महीने में दो लाख से ज्यादा लोगों को नौकरियां मिली। इससे वहां के बाजार में भी कमजोरी देखने को मिली, क्योंंकि उम्मीद है कि फेड ब्याज दरों में किसी तरह की कोई कमी नहीं करेगा। नौकरियां ज्यादा होने से बेरोजगारी का आंकड़ा काफी कम हो गया है। 

4. रुपया, कच्चा तेल

रुपये में गिरावट और कच्चे तेल में बढ़त देखने को मिली। रुपया 25 पैसे गिरकर के 68.66 पर बंद हुआ। वहीं कच्चा तेल 0.2 फीसदी बढ़कर के 64.33 डॉलर पर कारोबार करते हुए देखा गया। 

5. तिमाही नतीजे

मंगलवार से कंपनियों के तिमाही नतीजे आने शुरू हो जाएंगे। सबसे पहले टीसीएस और शुक्रवार को इंफोसिस के नतीजे आएंगे। बाजार के जानकारों का कहना है कि इससे ज्यादा असर पड़ेगा, क्योंकि कंपनियों का मुनाफा उम्मीद के मुताबिक नहीं आएगा। 
 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X