ड्रूम में टोयोटा ने किया 3 करोड़ डॉलर का निवेश, दक्षिण-पूर्व एशिया में बनेगी पैठ

ऑटो डेस्क, अमर उजाला Updated Fri, 18 May 2018 04:23 PM IST
Droom technology
Droom technology
ख़बर सुनें
देश के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन ऑटो प्लेटफॉर्म ड्रूम में जापान के टोयोटा सुसो कॉरपोरशन ने तीन करोड़ डॉलर का निवेश किया है। टोयोटा सुसो जापान की मशहूर ऑटोमोबाइल कंपनी टोयोटा ग्रुप का सदस्य है। इसी के साथ ड्रूम ने अगले वर्ष तक खुद को अमेरिका के नैस्डेक शेयर बाजार में सूचीबद्घ कराने का लक्ष्य तय किया है।
 
ड्रूम के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) संदीप अग्रवाल ने बताया कि कंपनी ने हाल में सीरीज डी के तहत टोयोटा सुसो से तीन करोड़ डॉलर का कोष डॉलर जुटाया है। कोष जुटाने के इस दौर में डिजिटल गैरेज ऑफ जापान का भी साथ मिला है।

उन्होंने बताया कि कोष जुटाने के इस दौर में एशियाई इन्वेस्टमेंट मैनेजर एलिसन इन्वेस्टमेंट के अलावा, कई मौजूदा निवेशकों और अग्रणी संस्थागत निवेशकों, चीन, हांगकांग और दक्षिण-पूर्व एशिया के फैमिली ऑफिस ने भी भाग लिया। 

ड्रूम के संस्थापक ने बताया कि इस कोष का इस्तेमाल भारत में ऑनलाइन ऑटोमोबाइल मार्केट प्लेस में ड्रूम की हिस्सेदारी को और मजबूती देने के लिए किया जाएगा। इस समय इस बाजार में ड्रूम की हिस्सेदारी 70 फीसदी है। इसके अलावा, इस कोष के जरिये प्लेटफॉर्म को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी उपस्थिति को मजबूती देने और इकोसिस्टम सर्विस टूल्स को बेहतर बनाने में मदद मिलेगी।

शेयर बाजार में सूचीबद्ध कराने के सवाल पर अग्रवाल ने बताया कि इस बारे में तैयारी चल रही है और अगले साल के अंत तक कंपनी को अमेरिका के नैस्डेक शेयर बाजार में सूचीबद्ध करा लिया जाएगा।

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Automobiles News in Hindi related to car and bike reviews, latest car and bike diaries and auto news in Hindi etc. Stay updated with us for all breaking news from automobiles and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Automobiles

फोर्ड इंडिया ने पेश की सनरूफ से लैस नई ईकोस्पोर्ट, जानें कीमत और फीचर्स

इसके पेट्रोल संस्करण की कीमत 10.40 लाख रुपये व डीजल संस्करण की कीमत 10.99 लाख रुपये है। इसके अलावा कंपनी ने ईकोस्पोर्ट एस को भी भारतीय बाजार में पेश किया है जिसके पेट्रोल संस्करण में 1 लीटर व डीजल संस्करण में 1.5 लीटर का इंजन है।

14 मई 2018

Related Videos

इसलिए गाड़ियों की नंबर प्लेट होती है अलग-अलग रंगों की...

क्या आप ने कभी गाडि़यों की नंबर प्लेट को ध्यान से देखा है। तो जरूर सोचते होंगे कि इनका कलर अलग-अलग क्यों होता है। नंबर प्लेट और नंबरों का रंग गाड़ी में बहुत ही अहमियत रखता है। हर चीज का एक मतलब होता है।

13 मई 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen