जिम्बाब्वे में तख्तापलट, राष्ट्रपति मुगाबे हिरासत में, सेना ने संभाली कमान

हरारे/ एजेंसी Updated Wed, 15 Nov 2017 05:29 PM IST
 Zimbabwe instability: army takes control of Harare and despot robert mugabe 
जिम्बाब्वे में जारी राजनीतिक संकट के बीच सेना ने बुधवार को सत्ता पर कब्जा कर लिया। इसे राष्ट्रपति राबर्ट मुगाबे के 37 साल के शासन का खात्मा माना जा रहा है। हालांकि सेना ने तख्तापलट से इनकार किया है। सत्तारूढ़ पार्टी ने मुगाबे और उनकी पत्नी ग्रेस को हिरासत में लिए जाने का दावा किया है।
टीवी पर ऐलान 
सेना के प्रवक्ता ने सरकारी टेलीविजन पर घोषणा की कि उसने देश में कोई तख्तापलट नहीं किया है। वह केवल राष्ट्रपति मुगाबे के आसपास मौजूद अपराधियों को निशाना बना रही है। बयान में कहा गया है कि राष्ट्रपति और उनका परिवार पूरी तरह से सुरक्षित हैं। जैसे ही हम अपने मकसद में कामयाब हो जाएंगे, देश में हालात सामान्य हो जाएंगे। प्रवक्ता ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है।

सड़कों पर सेना
राजधानी हरारे की सड़कों पर मंगलवार रात को सेना के बख्तरबंद वाहन नजर आए। सेना ने संसद, अदालतों और सरकारी इमारतों की ओर जाने वाली सड़कों को अवरुद्ध कर दिया। मुगाबे के निजी आवास और कुछ अन्य जगहों पर बुधवार तड़के गोलीबारी भी सुनी गई।

ऐसी स्थिति क्यों आई
उत्तराधिकार की लड़ाई : 93 वर्षीय मुगाबे ने पिछले हफ्ते उपराष्ट्रपति इमरसन मनांगाग्वा को बर्खास्त कर दिया था। ब्रिटेन से देश को स्वतंत्र कराने में शामिल रहे 75 वर्षीय मनांगाग्वा को मुगाबे का उत्तराधिकारी माना जा रहा है। खराब स्वास्थ्य से परेशान मुगाबे 52 वर्षीय पत्नी ग्रेस को अपना उत्तराधिकारी बनाना चाहते हैं।

सेना से टकराव  
सत्तारूढ़ पार्टी जेडएएनयू-पीएफ ने सेना प्रमुख जनरल कॉस्सटंटिनो चिवेंगा पर राष्ट्रपति से विश्वासघात का आरोप लगाया था। सेना प्रमुख ने मुगाबे से वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ कार्रवाई न करने की अपील की थी। वरिष्ठ सैन्य अधिकारी ग्रेस को मुगाबे का उत्तराधिकारी बनाने का विरोध कर रहे हैं।
आगे पढ़ें

सबसे बुजुर्ग राष्ट्राध्यक्ष

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Spotlight

Most Read

World

80 हजार में बिक रहा 1 लीटर दूध, देश छोड़कर भागे लाखों लोग

लैटिन अमेरिकी देश वेनेजुएला में आर्थिक हालात इतने बदतर हो गए हैं कि वहां की मुद्रा बोलिवर की कीमत बेहद कम हो गई है और महंगाई दर 4068 प्रतिशत बढ़ गई है।

17 फरवरी 2018

Related Videos

स्कूलों में गोलीबारी रोकने का 'ट्रंप फॉर्मूला', टीचर्स को रखने होंगे हथियार

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने देश में बढ़ रहे गन वॉयलेंस को रोकने की एक ऐसी सलाह दी है जिस पर उनके आलोचकों को एक बार फिर से उन पर निशाना साधने का मौका मिल सकता है।

22 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen