लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   World ›   Russia Ukraine Crisis : Russia losing hold in south, gained in east, will evacuate people from Kherson

Russia Ukraine Crisis : दक्षिण में रूस की पकड़ ढीली पड़ी, पूर्व में मिली बढ़त, खेरसॉन से लोगों को निकालेगा

एजेंसी, कीव/कुपियांस्क। Published by: योगेश साहू Updated Sat, 15 Oct 2022 12:17 AM IST
सार

Russia Ukraine Crisis : नाटो ने कहा है कि वह रूस के परमाणु अभ्यास की बारीकी से निगरानी कर रहा है। गठबंधन के प्रमुख जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने कहा कि हम निश्चित रूप से रूसी कार्रवाई से सतर्क रहेंगे। वे जब भी नया अभ्यास प्रारंभ करेंगे, नाटो भी पर्याप्त प्रतिक्रिया देगा।

Russia Ukraine War
Russia Ukraine War - फोटो : twitter/kyivpost
विज्ञापन

विस्तार

Russia Ukraine Crisis : ब्रिटेन ने शुक्रवार को जानकारी दी कि रूसी सेना ने पूर्वी यूक्रेन में कुछ बढ़त हासिल की है लेकिन दक्षिण में उसकी पकड़ ढीली हुई है। यूक्रेनी सेना को दक्षिणी मोर्चे पर मिलती सफलता से रूसी खेमे में चिंता बढ़ गई है और उसने आंशिक रूप से कब्जे वाले खेरसॉन क्षेत्र के उन लोगों को नि:शुल्क आवास का वादा करना शुरू कर दिया है जो वहां से रूस जाना चाहते हैं। रूसी उप प्रधानमंत्री मरात खुस्नुलिन ने यह घोषणा की है।



मरात के एलान से पहले खेरसॉन के रूस समर्थित नेता व्लादिमीर साल्दो ने क्रेमलिन से क्षेत्र के चार शहरों से निवासियों को निकालने के लिए कहा था। बिटिश रक्षा मंत्रालय ने भी कहा कि जिन इलाकों पर रूस का कब्जा था वहां के लोगों से रूसी अधिकारियों ने इलाका खाली करने को कहा है। ब्रिटिश खुफिया अपडेट के मुताबिक, प्राइवेट रूसी सैन्य कंपनी वागनर ग्रुप ने दक्षिण के आप्टाइन और इवानग्राद पर कब्जा कर लिया था। 


साल्दो ने लोगों को रूस जाने के लिए प्रेरित करने वाले एक वीडियो में कहा, खेरसॉन क्षेत्र के नोवा, काखोव्का, होला प्रिस्तान और चोर्नोबेव्का में रोज मिसाइल हमले हो रहे हैं। ऐसे में लोगों को गंभीर नुकसान से बचने के लिए रूसी शहर रोस्तोव, क्रास्नोदर, स्ताब्रोपोल व क्रीमिया ले जाने का फैसला किया गया है।

खेरसॉन में यूक्रेनी सेना का अभियान तेज
रूस समर्थित नेता व्लादिमीर साल्दो ने निवासियों को निकालने का अनुरोध ऐसे वक्त में किया है जब यूक्रेनी सेना ने दक्षिणी खेरसॉन में अपना अभियान तेज कर दिया है। इस बीच, रूस ने यूक्रेन के अहम प्रतिष्ठानों पर अपने हमले जारी रखे। जपोरिझिया की राजधानी रातभर रूसी मिसाइल हमलों से दहल उठी। खेरसॉन क्षेत्र के अधिकांश कस्बों व शहरों को यूक्रेनी सेना ने रूस से मुक्त करा लिया है।

यूक्रेन ने रूसी सीमा के पास उड़ाया गोला-बारूद डिपो
रूस-यूक्रेन के बीच पिछले कुछ दिनों में हालात बेहद गंभीर हुए हैं। रूस के सीमांत बेलगोरोद क्षेत्र के गवर्नर ने टेलीग्राम पर कहा- यूक्रेन की गोलाबारी ने रूस के सीमावर्ती गांव में एक गोला-बारूद डिपो को उड़ा दिया है। बेलगोरोद क्षेत्र के गवर्नर व्याचेस्लाव ग्लैदकोव ने कहा, जिले के एक गांव में यूक्रेनी सशस्त्र बलों द्वारा गोलाबारी के के साथ इस कार्रवाई को अंजाम दिया गया। अब यहां के निवासियों को अब सुरक्षित स्थान पर ले जाया जा रहा है।

रूस के आगामी परमाणु अभ्यास पर कड़ी नजर
नाटो ने कहा है कि वह रूस के परमाणु अभ्यास की बारीकी से निगरानी कर रहा है। गठबंधन के प्रमुख जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने कहा कि हम निश्चित रूप से रूसी कार्रवाई से सतर्क रहेंगे। वे जब भी नया अभ्यास प्रारंभ करेंगे, नाटो भी पर्याप्त प्रतिक्रिया देगा। आमतौर पर रूस अक्तूबर के अंत में सैन्याभ्यास करता है जिसमें परमाणु सक्षम बमवर्षकों, पनडुब्बियों और मिसाइलों का परीक्षण करता है। हम इस पर नजर बनाए रखेंगे।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00