विज्ञापन
विज्ञापन

शादी के बाद लड़कियां अपना नाम क्यों बदल लेती हैं?

sachin yadavसचिन यादव Updated Wed, 05 Nov 2014 03:24 PM IST
why girls have been changed name after marriage?
ख़बर सुनें
शादी के बाद लड़कियां अक्सर अपना सरनेम बदल लेती हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि ऐसा क्यों होता है, इसकी क्या ज़रूरत है या फिर ये केवल परंपरा के नाम पर होता है। कुछ लोग इसे पुरुषों के वर्चस्व से भी जोड़कर देखते हैं।
विज्ञापन
बीबीसी रेडियो-3 और आर्ट्स एंड ह्यूमनिटिज़ रिसर्च काउंसिल (एएचआरसी) की ओर से साल 2014 के लिए 'न्यू जेनरेशन थिंकर' का दर्जा पाने वाली डॉक्टर सोफ़ी कोलम्बेयू सवाल करती हैं, परंपरा के तहत शादी के बात पत्नियों को पति का नाम क्यों लेना चाहिए?

सोफ़ी कोलम्बेयू का लेख
मेरा नाम सोफ़ी कोलम्बेयू है। लेकिन अब से एक साल बाद, अगर मेरी शादी टूटती है तो यह कुछ और हो सकता है। मेरे लिए अपने पति का नाम लेना और अपना नाम ख़त्म करना बेहद गंभीर मुद्दा है, कि यह मेरी पहचान को किस तरह प्रभावित करता है।

एक तरफ़ यह हमें परिवार के सूत्र में पिरोता है और यदि हमें कभी बच्चे होते हैं तो जन्म प्रमाण पत्र पर क्या नाम होना चाहिए, इसे आसान बनाता है, लेकिन दूसरी तरफ़ यह मुझे पहले और सबसे पहले पत्नी बनाता है, जबकि मेरे पति की पहचान पर कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता।

1994 में यूरोबैरोमीटर के एक सर्वे में दावा किया गया था कि 94 प्रतिशत ब्रितानी महिलाएं शादी के बाद अपने पति का नाम अपना लेती हैं।

हालाँकि पिछले दो दशकों में इस आंकड़े में कुछ कमी आई है। ये महिलाएं ख़ासकर उच्च शिक्षित और युवा थीं। वर्ष 2013 में हुए सर्वे में पाया गया कि 75 प्रतिशत महिलाओं ने शादी के बाद अपने पति का नाम अपनाया।

क्योंकि ब्रिटेन के क़ानून के मुताबिक़ आप ख़ुद को जो भी नाम देना चाहें दे सकते हैं (बशर्ते आप कोई जालसाज़ी न कर रहे हों) में ऐसे सर्वे से किसी ख़ास निष्कर्ष पर पहुंचना बहुत कठिन है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

लोगों की भावनाएँ

विज्ञापन

Recommended

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन
Oppo Reno2

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि  व्  सर्वांगीण कल्याण  की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि व् सर्वांगीण कल्याण की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Rest of World

इन शहरों में कार चलाना है मना

जहां एक तरफ प्रदूषण दुनिया को अपनी चपेट में ले रहा है वहीं हमारी ही दुनिया में कुछ शहर ऐसे हैं जो कार का इस्तेमाल ना करके इस पॉल्यूशन को मात देने की कोशिश भी कर रहे हैं।

21 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

Maharashtra Exit Poll: महाराष्ट्र में BJP की वापसी, 47 साल बाद फडणवीस के नाम बन सकता है रिकॉर्ड

एग्जिट पोल में महाराष्ट्र और हरियाणा में भाजपा का सरकार में आना तय दिख रहा है। अगर ऐसा होता है तो महाराष्ट्र 47 साल का रिकॉर्ड टूट जाएगा। जब कोई लगातार दूसरी बार प्रदेश की कमान संभालेगा।

22 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree